उत्साह ( Enthusiasm)

Published by indertanwar397 on


उत्साह  ( Enthusiasm)


उत्साह से सफलता की संभावना बढ़ जाती है।

जीवन में हम सब सफल होना चाहते है लेकिन कई बार परिणाम हमारी इच्छाओं के विपरित आते है। और हम निराशा के अंधकार से घिरने लगते हैं। कुछ व्यक्ति ऐसे भी होते है जो बार बार असफल होने के बावजूद अपने आप को फिर से ओर ज्यादा मजबूती के साथ तैयार करते है और आख़िरकार वे सफलता को अपनी ओर आकर्षित कर ही लेते हैं। ऐसे लोग हमेशा उत्साह से भरपूर रहते है निराशा को कभी भी अपने आस पास फटकने नहीं देते। वे इस बात से भली-भांति परिचित होते है कि उत्साह जीवन में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। बगैर उत्साह के इंसान कितना भी प्रयास करें उसे इच्छित परिणाम नहीं मिल पाते। उत्साह से किए गए प्रत्येक कार्य के सफल होने की संभावना बहुत ज्यादा बढ़ जाती है। उत्साह से भरपूर व्यक्ति सामान्य की तुलना में बहुत जल्दी सीखता है। उत्साह से रिक्त व्यक्ति अपने जीवन में बहुत ज्यादा मेहनत करने के बाद भी उतना हासिल नहीं कर पाता जितना उत्साह से भरपूर व्यक्ति प्राप्त कर लेता है। आखिर कब तक हम नकारात्मकता के दलदल में फंसे रहेंगे। कभी तो होश संभावना ही होगा। तो फिर इंतजार किस बात का? आज से  ही हम अपनी महत्वकांक्षाओं को पूरा करने के लिए अपने आप से वादा करेंगे कि जब तक अपने लक्ष्यों को हासिल न कर लें तब तक उत्साह और जोश को कम नहीं होने देंगे। उत्साह को जीवन में बनाए रखने के लिए अच्छा देखने, सुनने और पढ़ने की आदत को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाने की आवश्यकता है।

इसे👉 पढ़ें :-


डायमंड्स


उत्साह पूर्ण होना एक अद्भुत अवस्था।


उत्साहपूर्ण होना अपने आप में एक अद्भुत अवस्था होती है जिसमें व्यक्ति अपनी क्षमताओं का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने को हमेशा तत्पर रहता हैं। सफलता प्राप्ति के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक खुद को प्रेरित बनाएं रखना। केवल यही एक चीज है जिसकी कमी के कारण ज्यादातर मौकों पर हम पीछे रह जाते है। बिना प्रेरणा किसी भी क्षेत्र में सफल होना बहुत मुश्किल होता है। उत्साह से हीन व्यक्ति तो उस गाड़ी की तरह होता है जो दिखने में तो बहुत सुंदर लेकिन उसके पहियों में हवा न हो। इसीलिए उत्साह एक आधारभूत गुणों में से एक बताया गया है जो हमारी प्रेरणा को कम नहीं होने देता। और विपरीत परिस्थितियों में हमें साहस प्रदान करता है। समय रहते हमें अपनी आदतों में शानदार परिवर्तन करने की आवश्यकता है ताकि हम हमारा उत्साह हर परिस्थिति में बरकरार  रख सकें।

इसे भी 👉 पढ़ें :-

निवेश कहा करें


हमारा व्यक्तित्व


चैम्पियन की तरह व्यवहार करना होगा


हमारे भाव


ज्ञान से ही भाग्य का उदय होगा


समय हाथ से निकल जा रहा है।


प्रार्थना की शक्ति


उत्साह


जिम्मेदारी

स्वस्थ सोच

अवसर

सच्ची खुशी

दिमाग़ रूपी उपहार से उत्साहित होना।

हमारा दिमाग किसी काम को करने में केवल उसी समय उत्साह प्रदर्शित करता है जब उसे कोई फायदा दिखाई देता है या फिर उस पर किसी तरह का कोई दबाव पड़ता हैं। जब बात धन कमाने की होती है या फिर उस विषय पर होती है जो हमें पसंद है तो हमारा मस्तिष्क तुरंत सक्रिय हो जाता हैं। पूरे जोश और उत्साह के साथ हर बात को सुनता और समझता है। हमारा दिमाग एक अद्भुत अंग है। कुल मिलाकर ईश्वर ने हमें दिमाग़ के रूप में पूरी दुनिया को जीतने वाला, हमारी प्रत्येक महत्वकांक्षाओं को पूरा करने वाला शस्त्र वरदान स्वरूप भेंट किया है। हमें इसका सम्मान करना चाहिए और इसका सही दिशा में उपयोग करने की भी आवश्यकता है। हमेशा उत्साह से भरपूर रहने के लिए हमें निरंतर पराजित होने के डर को खुद से दूर रखने की कोशिश करनी होगी और अपने लक्ष्यों को हमेशा याद रखते हुए स्वयं को नई नई चुनौतियां देते रहे। हमारा जीवन बड़ा कीमती है हमें इसमें अपनी महत्वकांक्षाओं को पूरा करने के बहुत सारे अवसर उपलब्ध होते है। लेकिन इन अवसरों का भरपूर फायदा हम तभी उठा पाएंगे जब हम उत्साह से परिपूर्ण होकर सही दिशा में लगातार जुटे रहे। 


इसे भी 👉 पढ़ें:-


जीवन जीने के अनूठे तरीके


खुद की मदद कैसे करें


शब्दावली को बेहतर करके उत्साह से ओतप्रोत होना।



जिस प्रकार एक मंत्र के नियमित उच्चारण करने से हमें मानसिक शांति की प्राप्ति होती हैं। ठीक उसी तरह हमें निरंतर अपनी शब्दावली में सकारात्मक शब्दों को शामिल करते रहने की आवश्यकता है। धीरे धीरे हमारे अंदर मौजूद नकारात्मक विचार और भावनाएं कम होती जाएंगी। प्रतिदिन उच्च ऊर्जा से भरे शब्दों को अपनी बोलचाल में शामिल करने की कोशिश करें।  परिणामस्वरूप हमारी दुनिया को देखने के नजरिए में आमूलचूल परिवर्तन होगा।  जिस प्रकार हम अपने रुपए पैसे का हिसाब बड़ी सावधानी और समझदारी से करते है ठीक उसी तरह हमें अपनी शब्दावली का भी हिसाब बड़े ध्यान से रखना होगा। केवल अच्छी और सहयोगपूर्ण बातें ही लिखने, पढ़ने और बोलने की आवश्यकता है।

इसे भी 👉 पढ़ें:

खुद पर काम करें


 विकल्प 


प्रार्थना की शक्ति


समय ही धन है


सुबह का उपयोग करके उत्साह में वृद्धि करें।


सुबह जल्दी उठना हमेशा ही फायदेमंद होता हैं। सुबह जल्दी उठकर हम अपने जीवन को सामान्य की तुलना में ज्यादा उत्साह से भरपूर बना सकते है। कहावत भी है कि सोकर कुछ भी हासिल नहीं किया जा सकता और जागरूक होकर जो पाना चाहते है उसे बड़ी आसानी से प्राप्त किया जा सकता हैं। जब हम दुनिया के महान लोगों की जीवनशैली को देखते है तो हमें पता चलता है कि उन सब ने अपने निर्धारित लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए सुबह के समय को ज्यादा महत्व दिया है। उन्होंने उस समय काम किया जब सामान्य व्यक्ति सो रहे होते थे। इसीलिए कहा गया है कि अगर कुछ अलग करना चाहते है तो वो काम किजिए जिसको साधारण व्यक्ति गैर जरूरी समझकर अनदेखा कर देते हैं। हममें से ज्यादातर लोगों को सुबह उठना पसंद नहीं करते। इसलिए हमें सुबह जल्दी उठकर सुबह के समय का सदुपयोग करना चाहिए क्योंकि सुबह के समय हमारा दिमाग ज्यादा सक्रिय रहता है। और इस वक्त हम जो कुछ भी करेंगे वो हमें ज्यादा अच्छे से समझ आएगा।


इसे भी 👉 पढ़ें:- समय ही धन है

लेेेेेेख को अपने दोस्तों को शेेेेेेयर जरुर करें और ब्लॉग को फोलो जरूर करें।

धन्यवाद 🙏 


Categories: Self-help

0 Comments

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published. Required fields are marked *