निरंतर प्रयास से बेहतर कैसे बनें?

Published by indertanwar397 on

निरंतर प्रयास से बेहतर कैसे बनें? (How To Become Better With Sustained Effort)

 To Become Better With Sustained Effort

 

सीखने वालों के लिए दुनिया में बहुत कुछ है।

निरंतर प्रयास से बेहतर कैसे बनें? हमारे जीवन में बहुत संभावनाएं छिपी हुई है जिनको प्रयासों के द्वारा हम बाहर निकाल सकते हैं क्योंकि निरंतर प्रयास विश्व की उन शक्तिशाली चीजों में से एक है जो हमें अपने वास्तविक स्वरूप के दर्शन करवा सकते हैं। जिस प्रकार एक एक बूंद से सागर भरता, एक एक ईंट से महल बन जाता हैं। ठीक उसी तरह छोटे छोटे प्रयासों से हम अपने जीवन में जो चाहे प्राप्त कर सकते हैं। थोड़ा सा प्रयास करने के बाद सफलता हासिल न होने पर हम निराश हो जाते हैं। और सफलता के विषय में अपनी एक राय बना लेते है कि सफलता हासिल करना तो किस्मत की बात होती है, भाग्य साथ देगा तभी हम सफल हो सकते हैं। और ये सोच कर बैठ जाते है कि विधाता का लिखा कौन मिटा सकता हैं। हमें इस तरह के अपने एटिट्यूड को बदलने की आवश्यकता है। ईश्वर ने हमें खुद अपना भविष्य बनाने की शक्ति वरदान स्वरूप भेंट की है। हमें केवल उन शक्तियों को पहचान कर अपने कर्तव्य का निर्वहन करना हैं। और वो सब अभ्यास के द्वारा संभव हो सकता हैं। याद कीजिए जब हमने पढ़ना लिखना शुरू किया था तब हमने लगातार अभ्यास किया था सीखने के लिए। अचानक ही हमें लिखना और पढ़ना नहीं आया था। ठीक उसी तरह हमें अपने जीवन में सुंदर और प्रेरणादायक विचारों को पढ़कर और सुनकर अपने आप को बेहतर बना सकते हैं। सीखने वालों के लिए तो दुनियां में बहुत कुछ है। निरंतर प्रयास से बेहतर कैसे बनें?

इसे भी 👉 पढ़ें :-

जिंदगी में खुशियां कहां पाऊं।

चलो एक बार फिर से कोशिश करते हैं

मूल्यवान कैसे बनें

चैम्पियन की तरह व्यवहार करना होगा

हमारे भाव

ज्ञान से ही भाग्य का उदय होगा

समय हाथ से निकल जा रहा है।

उत्साह

जिम्मेदारी

सफलता प्राप्ति में संस्कारों का महत्व

हमारा व्यक्तित्व

किसी भी परिस्थिति में अपने वादों को निभाएं

निरंतर प्रयास से बेहतर कैसे बनें? अपने आप को उत्कृष्ट स्तर तक लें जाने के लिए हमें सबसे पहले अपने आपसे वादा करना होगा, दृढ़ संकल्प लेना होगा चाहें जो कुछ भी हो जाएं हम अपने वादों से पीछे नहीं हटेंगे। हमने अपने आप से जो वादा किया है उसे पूरा करके रहेंगे। कई बार हम दूसरों के चक्कर में की लोग क्या कहेंगे अपना दायरा सीमित कर लेते हैं। स्वामी विवेकानंद जी ने भी कहा है कि दुनिया क्या कहेगी ऐसा सोचना ही कमजोरी है, तुम्हें खुद जो अच्छा लगता है वहीं करो, जीवन का यही रहस्य है। सही दिशा और निरंतर छोटे छोटे प्रयासों से हम वो सब हासिल कर सकते है जिसकी केवल कल्पना की जा सकती हैं। निरंतर प्रयास से बेहतर कैसे बनें। लगातार प्रयास करते रहना साहस का काम है। अपनी गलतियों के कारण भले ही कुछ समय के लिए हम अपने उद्देश्य से दूर हो जाएं लेकिन हमें अपने लक्ष्य को कभी भूलना नहीं चाहिए। हमें अपने आप को इतना मजबूत बनाने की आवश्यकता है कि कितनी भी विपरीत परिस्थितियां आ जाएं हम अपने लक्ष्य से नहीं भटकेंगे, मैदान छोड़कर नहीं भागेंगे। जीवन संघर्षों का नाम है, इन संघर्षों में भी लगातार प्रयास करते रहेंगे। निरंतर प्रयास से बेहतर कैसे बनें?

इसे भी 👉 पढ़ें:

धैर्य रूपी अद्भुत क्षमता को कैसे विकसित करें

खुद पर काम करें

 विकल्प 

प्रार्थना की शक्ति

समय ही धन है 

आनंदमय जीवन

सच्ची खुशी

सरल जीवन

सफल आदतें

हमेशा खुश कैसे रहें

समय बर्बाद करने वाले लोगों और बातों से अपने आप को बचाएं

 

निरंतर प्रयास से बेहतर कैसे बनें? लगातार किए गए प्रयासों से कितना भी मुश्किल काम हो बड़ी ही आसानी से किया जा सकता है। निरंतर प्रयास से व्यक्ति अपनी फिल्ड में उच्च स्तर पर पहुंच सकता हैं। यही सफल और लोकप्रिय लोगों की सफलता का रहस्य होता हैं। हम भी अभ्यास द्वारा अपनी महत्वकांक्षाओं को पूरा कर सकते हैं। छोटे प्रयासों से हम एक दिन बहुत बड़ी सफलता हासिल कर सकते हैं। निरंतर प्रयास से बेहतर कैसे बनें? समय बर्बाद करने वाले लोगों और बातों से अपने आप को बचाने की कोशिश करनी होगी, लगातार जुटे रहना होगा बिना रूके, बिना थके। आज का काम आज ही करें ऐसी आदत को विकसित करने की आवश्यकता है। क्योंकि काम को कल पर टालने वाले ज्यादा विश्वसनीय नहीं माने जाते है। सबसे महत्वपूर्ण हमें अपने मन की भावनाओं पर नियंत्रण रखने के लिए प्रयास करना होगा। सकारात्मक विचारों द्वारा हम अपनी मनोदशा पर काबू कर सकते हैं और जब हम अपनी मनोदशा को नियंत्रित कर लेंगे तो हम अपने भाग्य पर भी काबू कर सकते हैं। हमें अपने भाग्य का निर्माण खुद करना होगा। हमें निरंतर अच्छे विचारों और कार्यों पर चिंतन मनन करते रहने की आवश्यकता है केवल तभी हम अपने अच्छे भविष्य की कामना कर सकते हैं। निरंतर प्रयास से बेहतर कैसे बनें? 

इसे भी 👉 पढ़ें:-

आनंदमय जीवन

सच्ची खुशी

सरल जीवन

सफल आदतें

हमेशा खुश कैसे रहें

डायमंड्स

असंभव कुछ भी नहीं

👉 ऊर्जा का स्तर

सामर्थ्य

नकारात्मक विचारों को सकारात्मक विचारों के साथ बदलें

निरंतर प्रयास से बेहतर कैसे बनें? जब कभी भी हमारे मन में दुःख, निराशा, हताशा जैसे नकारात्मक विचार आएं तो उसे सकारात्मक विचारों के साथ बदलना होगा। समय के साथ हमारे विचार और भावनाएं पूरी तरह से सकारात्मक होती चली जाएगी। और सुंदर व्यवहार हमारे व्यक्तित्व में भी निखार आने लगेगा। व्यक्तित्व ही हर इंसान की दूसरों से पहचान करवाता है। और इस तरह इन सब चीजों को धीरे धीरे अभ्यास के द्वारा हम अपनी आदतों में शुमार कर सकते हैं। हम सब बचपन से ही सीखते आ रहे हैं और हर उम्र एवं परिस्थिति में हमें सीखते रहना होगा। ये जरूरी नहीं कि हम केवल धन कमाने के लिए ही कुछ बेहतर करें। हमें शिष्ट और व्यवहारिक बनने की दिशा में भी अपने आप को और बेहतर बनाने की कोशिश करनी होगी। क्योंकी शिष्ट और व्यवहारिक व्यक्ति को सब पसंद करते हैं। परमात्मा के प्रति कृतज्ञता, जरूरतमंदों की मदद और बड़ों के प्रति सम्मान प्रकट करने की भावना को विकसित करना ही शिष्टाचार है। निरंतर प्रयास से बेहतर कैसे बनें?

इसे भी 👉 पढ़ें :-

प्रार्थना की शक्ति

 उत्साह

जिम्मेदारी

स्वस्थ सोच

संस्कारों को अपने व्यवहार में शामिल करें

 

निरंतर प्रयास से बेहतर कैसे बनें? संस्कार हमारे लिए बहुत ही आवश्यक है, हम जो कुछ भी काम करते है,‌ आचरण, व्यवहार करते है वो हमारे संस्कारों पर आधारित होते हैं। छोटे छोटे प्रयासों से हम इन संस्कारों को अपने व्यवहार में शामिल कर सकते हैं। और अपने और दूसरों के जीवन को सुखमय बनाने में सहायक बन सकते हैं। हमें अपनी आदतों में कुछ जरूरी परिवर्तन करने की आवश्यकता है। निरंतर प्रयास को हमें अपनी आदतों में शुमार करना होगा।

 
लेख पसंद आएं तो शेयर जरुर करें और ब्लॉग को सब्सक्राइब भी करें।
Thanks for reading 🙏

0 Comments

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published. Required fields are marked *