चैम्पियन की तरह ही व्यवहार करना होगा। (Have to behave like a champion.)

Published by indertanwar397 on

चैम्पियन की तरह ही व्यवहार करना होगा। (Have to behave like a champion.)


बुनियादी चीजों को और ज्यादा बेहतर बनाने के लिए हमेशा तत्पर रहना।


चैम्पियन की तरह व्यवहार करना होगा। सफलता प्राप्ति में हमारा व्यवहार महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। जीतने के लिए विनम्र होना ही होगा, और कोई विकल्प नहीं है। अहंकार के साथ सफलता हासिल करना बहुत मुश्किल होगा। चैम्पियन की तरह ही व्यवहार करना होगा। हम धन दौलत के लिए बड़े से बड़ा बलिदान देने को तैयार रहते है, किंतु अपनी आत्मा को ऊंचा उठाने के लिए, अपने बुनियादी चीजों को और ज्यादा बेहतर बनाने के लिए कुछ खास नहीं करते। अपनी क्षमताओं को विकसित करने का एक महत्वपूर्ण उपाय यह हो सकता है कि हम अभी से यह निश्चित कर लें कि कोई भी मौका जो हमारी क्षमताओं को बेहतर बनाने में हमारी मदद करेगा उसे किसी भी परिस्थिति में हाथ से नहीं जाने देंगे। इस तरह हम खुद के लिए एक नए अवसर का निर्माण कर पाएंगे। सफल और लोकप्रिय लोग हमारी तरह ही होते है वो कोई दूसरी दुनिया से नहीं आए। उनमें और हममें एक बुनियादी अंतर होता है वो लोग तब भी काम करते है जब सामान्य व्यक्ति आराम करना पसंद करता है या फिर निठल्ले दोस्तों के साथ समय बर्बाद करता है। हमें सफल लोगों से बहुत कुछ सीखने की जरूरत है।  चैम्पियन की तरह ही व्यवहार करना होगा।

इसे भी 👉 पढ़ें  :- 




विश्वास के बल पर ही हम बड़े से बड़ा काम कर सकते हैं। 


चैम्पियन की तरह ही व्यवहार करना होगा। हमारे अंदर असिमित शक्ति है हमें उस शक्ति को पहचान कर उसका सदुपयोग करना है। अगर आचरण त्रुटि पूर्ण है तो हमारा प्रभाव भी कम होता जाएगा और सफलता हासिल करने में बहुत कठिनाइयों का सामना करना पड़ेगा। हम दुनिया को जो कुछ भी देते है वो सब उसी मात्रा और उसी स्वरूप में हमें वापिस मिलता हैं। फिर चाहे वो अच्छा हो या बुरा। हम अक्सर अपनी अपेक्षा दूसरों पर ज्यादा भरोसा रखना पसंद करते हैं। इसके कई कारण हो सकते हैं। खुद पर यकीन करना होगा क्योंकि विश्वास के बल पर ही हम बड़े से बड़ा काम कर सकते हैं। जो व्यक्ति खाली बैठकर समय बर्बाद करने की अपेक्षा हर समय अपनी क्षमताओं को निखारने, और ज्यादा बेहतर बनाने में लगे रहते है आखिरकार वहीं लोग इतिहास में अपना नाम दर्ज करवाते हैं। इसके साथ ही अतिरिक्त समय में हमें धैर्य की कला सीखने का अभ्यास करने की भी आवश्यकता है। चैम्पियन की तरह ही व्यवहार करना होगा।

इसे भी 👉 पढ़ें:-

हमारे भाव


ज्ञान से ही भाग्य का उदय होगा


समय हाथ से निकल जा रहा है।


प्रार्थना की शक्ति


उत्साह


जिम्मेदारी

स्वस्थ सोच

अवसर


हमारे बोलने के तरीके से ही हमारे व्यक्तित्व, हमारे ज्ञान का परिचय होता है


चैम्पियन की तरह ही व्यवहार करना होगा। शब्दों के चयन में सावधानी बरतनी होगी क्योंकि हमारे शब्द ही सामने वाले व्यक्ति को हमारे व्यक्तित्व की पहचान करवाते हैं। सफल व्यक्ति अपने शब्दों का बड़ी सावधानी के साथ उपयोग करते है। हमारे बोलने के तरीके से ही हमारे व्यक्तित्व, हमारे ज्ञान का परिचय होता है। लोग हमारी बातों को ध्यानपूर्वक सुने यह इस बात पर निर्भर करता है कि हम किस तरह की भाषा का इस्तेमाल करते हैं। हमें एक सफल और महान व्यक्ति की तरह व्यवहार करते रहने की आवश्यकता है। ताकि यह सब हमारे स्वभाव का हिस्सा बन जाएं। इस तरह की छोटी छोटी बातों को अभ्यास के द्वारा और ज्यादा बेहतर बनाया जा सकता है। रास्ते तो सभी के लिए खुलें है, जो कोई आत्मविश्वास रखकर चलेगा कामयाबी उसी के कदम चूमेगी। इसके साथ ही अपने से उत्तम मस्तिष्क वालों के सम्पर्क में लगातार रहने से  हमारे व्यक्तित्व में निखार आ जाता है और हमारी मानसिक शक्तियों को विकसित होने में मदद मिलती हैं।  चैम्पियन की तरह ही व्यवहार करना होगा।


इसे भी 👉 पढ़ें:-

खुद की मदद कैसे करें

हमें अपने कार्यों और भावनाओं का निरंतर विश्लेषण करते रहना होगा।


चैम्पियन की तरह ही व्यवहार करना होगा। निरंतर अपनी योग्यताओं और क्षमताओं पर विश्वास करने से हमारे साहस में बढ़ोतरी होती है। अनुकूल परिस्थितियों में हम निरंतर प्रेरित होते रहते है इसके साथ ही प्रतिकूल परिस्थितियों में भी हमें अपने आप को स्थिर और शांत रहकर निरंतर प्रयास करते रहने की आवश्यकता है। हमें अपने कार्यों और भावनाओं का निरंतर विश्लेषण करते रहना होगा। इससे हमें अपनी खूबियों और खामियों का पता चलता है। इसमें सुधार की गुंजाइश सामान्य की तुलना में हमेशा ज्यादा रहती हैं। अपनी कमियों को कैसे दूर करें इस दिशा में लगातार चिंतन मनन करते रहना चाहिए। जीवन के हर क्षेत्र में हम आधी कामयाबी तो अच्छी कल्पनाओं और दृढ़ संकल्प के द्वारा ही प्राप्त कर लेते हैं, बाकी की आधी मेहनत, लगन और निरंतर प्रयास से हासिल की जा सकती हैं। सबमें समान रूप से शक्तियां विद्यमान होती है कुछ लोग इन शक्तियों को पहचान जाते है और कुछ इन शक्तियों से अनभिज्ञ रहते हुए जीवन भर दूसरों पर आश्रित रहते हैं। चैम्पियन की तरह ही व्यवहार करना होगा।

इसे भी 👉 पढ़ें:

खुद पर काम करें


केवल अपने लक्ष्य को फोकस करके हम अपने सपनों को जल्दी पूरा कर सकते हैं।


चैम्पियन की तरह ही व्यवहार करना होगा। क्षमा करना अद्भुत गुणों में से एक है। छोटी छोटी बातों में नहीं उलझना सामान्य व्यक्ति की पहचान होती है। उसने मुझसे ऐसे बात की, उसको बोलने की तमीज नहीं है, उसका व्यवहार उचित नहीं था, इस तरह की सैकड़ों छोटी छोटी बेकार की बातें है जिसमें उलझकर हम लोग अपने कीमती समय को व्यर्थ गंवाते रहते हैं। इस तरह से अपनी महत्वकांक्षाओं को पूरा करने में हमें बहुत मेहनत और समय लगाना होगा। इसकी अपेक्षा इन सब बातों को अनदेखा करके केवल अपने लक्ष्य को फोकस करके हम अपने सपनों को जल्दी पूरा कर सकते हैं। पूरी प्रकृति सिर्फ देने के बल पर ही इतनी शक्तिशाली है। जिस प्रकार सूर्य हमेशा धूप और गर्मी प्रदान करता हैं, पेड़-पौधे हमेशा फल और छाया देते है ठीक उसी भांति केवल देने की भावना को विकसित करने की आवश्यकता है। प्रकृति हमें हमेशा श्रम और अनुशासन का पाठ पढ़ाती है लेकिन आधुनिकीकरण की दौड़ में हमने अपने आप को केवल रुपए पैसा कमाने तक ही सीमित कर लिया है। रुपए कमाना हमारी जरूरत है लेकिन संस्कारों और प्रकृति के नियमों की अनदेखी करके हम चाहे कितना भी हासिल कर लें वो फायदेमंद नहीं होता। अच्छी भावनाओं से किए गए प्रत्येक कार्य में सफलता निश्चित तौर पर होती हैं। चैम्पियन की तरह ही व्यवहार करना होगा।


जिस भी प्रेरणादायक विषय पर आप पढना चाहते है आप हमें बताएं। हम आपकी पसंद के विषय पर जरूर आर्टिकल लिखेंगे।

टिप्पणियां अवश्य दें।
धन्यवाद 🙏


0 Comments

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published. Required fields are marked *