चलो एक बार फिर से कोशिश करते हैं। (Let’s try once again.)

Published by indertanwar397 on

 

 

 

अपने लक्ष्यों की अपेक्षा योजनाएं बदलने की आवश्यकता है। 

चलो एक बार फिर से कोशिश करते हैं। मौके सभी को मिलते है जीवन में लेकिन जिनको कुछ कर दिखाना होता है, अपने आप को सबसे बेहतरीन साबित करना होता है उसे ही सही समय पर अवसरों का लाभ उठाना आता हैं। अगर किसी काम में सफलता नहीं मिलती है तो इसका अर्थ है कि हमारी क्षमताओं में कुछ कमी है। अपनी क्षमताओं को और ज्यादा बेहतर बना कर फिर से प्रयास किया जा सकता हैं। अगर हम प्रत्येक नाकामयाबी पर अपने लक्ष्यों, अपनी महत्वकांक्षाओं को बदलते रहे तो संभवत हम कही भी नहीं पहुंचने वाले।  समय रहते कोशिश करने को ही समझदारी कहते हैं। क्योंकि सुधार की गुंजाइश हमेशा रहती है। छोड़िए सारे झमेले, आज़ तक की समझदारी ने हमें आगे कम और पीछे ज्यादा बढ़ाया है। अपने लक्ष्यों की अपेक्षा योजनाएं बदलने की आवश्यकता है। एक तरीका काम न करें तो दूसरा, दूसरा नहीं तो तीसरा। काम करने का तरीका बदलना होगा। हमारी समस्या है कि हम अपने लक्ष्यों को ही बदलते रहते हैं इससे कामयाब होने की संभावना बहुत कम हो जाती हैं। कोशिश तो करनी ही होगी समय रहते कर लेंगे तो संतुष्टि और सफलता दोनों एक साथ मिलेंगी। अभ्यास के द्वारा चलो एक बार फिर से कोशिश करते हैं। 

इसे भी 👉 पढ़ें :-

 

मूल्यवान कैसे बनें

 

चैम्पियन की तरह व्यवहार करना होगा

 

हमारे भाव

 

ज्ञान से ही भाग्य का उदय होगा

 

समय हाथ से निकल जा रहा है।

 

उत्साह

 

जिम्मेदारी

सफलता प्राप्ति में संस्कारों का महत्व

 

अच्छी आदतें अपनाना हमेशा मुश्किल होता है लेकिन परिणाम अद्भुत मिलते हैं। 

चलो एक बार फिर से कोशिश करते हैं। हम अपने जीवन में सफलता क्यों चाहते है? सफलता कोई बाजार में उपलब्ध कोई वस्तु नहीं है। जिसे कुछ रुपए देकर या किसी की सहायता से हासिल किया जा सके। सफलता के लिए अपने आप को साबित करना होता है। कठोर संघर्षों से गुजरना पड़ता है, अपने आप को सोने (गोल्ड) की तरह तपाना पड़ता हैं अपनी क्षमताओं को बेहतर से बेहतरीन बनाना पड़ता हैं और एक लम्बे संघर्ष के बाद सफलता मिलती हैं। सफलता की राह में कई अड़चनें पैदा होंगी, बुरी आदतें हमें पीछे धकेलने की कोशिश करती हैं क्योंकि  बुरी आदतों और चीजों को अपनाना नहीं पड़ता वो तो बड़ी आसानी से हमारे साथ आ है क्योंकि उनमें जो क्षणिक आनंद मिलता है वो दूसरी किसी भी वस्तु या कार्य में नहीं मिलता। ये क्षणिक सुख ही हमारी सबसे बड़ी समस्याओं में से एक है जो हमें आगे बढ़ने से रोकता हैं। इसकी अपेक्षा अच्छी आदतें अपनाना हमेशा मुश्किलों से भरा और कष्टकारी होता है। अपने कम्फर्ट ज़ोन को छोड़ना पड़ता है, नींद को त्यागना पड़ता है, आलस्य को दूर करके की आवश्यकता होती है। कौन नहीं जानता कि सुबह ब्रह्म मुहूर्त में उठना देरी से उठने की अपेक्षा ज्यादा बेहतर होता हैं? क्या हम नहीं जानते प्रतिदिन 10 से 15 मिनट का नियमित व्यायाम हमें स्वस्थ रहने में हमारी मदद करता है? हेल्दी फूड के बारे में किसे नहीं पता? यह सब कुछ जानते हुए भी हम अपने जीवन में अनजान बने रहते हैं। खुद अपने खिलाफ काम करते हैं और फिर कहते है हमारा तो भाग्य ही ख़राब है, ईश्वर मेरे साथ नहीं है कई तरह के बहाने बनाते हुए खुद का बचाव करते हैं। हमें अपने आप को ट्रेनिंग देने की आवश्यकता है। सब कुछ संभव है बस बिना घबराएं, बिना रूके कोशिश करनी होगी

विपरीत परिस्थितियों और बड़ी समस्याओं से बिना घबराएं, निडरता के साथ टकरा जाना है।

चलो एक बार फिर से कोशिश करते हैं। चाहें लाख मुश्किलें आए, चाहे कैसी भी परिस्थिति हो हम इंसानों को ही ऐसी शक्ति प्रदान की गई है जिसका उपयोग करके हम अपने आप को पुनः स्थापित कर सकते हैं। उस अद्भुत कला को हिम्मत नहीं हारने की कला कहते हैं। डर किस बात का आगे बढिए सफलता आपका इंतजार कर रही हैं। कंडिशन सिर्फ एक ही है हिम्मत नहीं हारना। अभ्यास कर करके मेहनत कर करके अपने आप को इतना श्रेष्ठ बना लेना है जैसे एकलव्य ने बिना गुरु के ही अभ्यास के बल पर अपने आप को श्रेष्ठ बनाया था। कहावत भी है करत-करत अभ्यास के, जड़मति होत सुजान। रसरी आवत जात तें, सिल पर परत निसान। जिस प्रकार कुएं से पानी खींचने वाली रस्सी किनारे पर रखें पत्थर से काफी कमजोर होते हुए भी पत्थर पर घिसकर निशान बना देती हैं। ठीक उसी तरह हमें भी विपरीत परिस्थितियों और बड़ी समस्याओं से बिना घबराएं, निडरता के साथ टकरा जाना है। असफलताएं मिलेगी, बार बार हार का सामना करना होगा लेकिन हिम्मत नहीं हारनी है।अधिकतम दो ही विकल्प हो सकते है या तो हम हार जाएंगे या तो फिर जीत हासिल होगी अगर इन परिस्थितियों और समस्याओं पर जीत हासिल कर ली तो साक्षात् सफलता हमारा स्वागत करेगी और अगर हम इनसे जीत नहीं पाएं तो इनसे प्राप्त हमारा अनुभव हमें आगे बढ़ने में हमारी मदद करेगा। दोनों विकल्पों में ही हमारा फायदा होगा लेकिन केवल तभी जब हम हार जाने के बाद भी हार नहीं मानेंगे। और आखिरकार हम जीत जाएंगे।

इसे भी 👉 पढ़ें:-

 

जीवन जीने के अनूठे तरीके

 

खुद की मदद कैसे करें

बुनियादी रूप से हम-सब बहुत क्षमतावान, सामर्थ्यवान और श्रेष्ठ गुणों से भरपूर है।

चलो एक बार फिर से कोशिश करते हैं। हमें अपने अनूठेपन को, सबसे अलग काम करने के तरीके की अद्भुत क्षमता को कभी भी नहीं भूलना चाहिए। बुनियादी रूप से हम-सब बहुत क्षमतावान, सामर्थ्यवान और श्रेष्ठ गुणों से भरपूर है। हमारे जैसा दूसरा कोई नहीं है दुनिया में। हम सब युनिक है, अद्भुत है। मेहनत, संघर्ष और सहनशीलता के बल पर हम अपने अंदर मौजूद इन असाधारण गुणों को और ज्यादा विकसित कर सकते हैं। रुपए कमाना और वासनाओं की पूर्ति करना ही हमारा आखिरी उद्देश्य नहीं है। परिवर्तन संसार का नियम है। समय के साथ साथ हर वस्तु और इंसान को अपने आप को बेहतर बनाना होता हैं। लेकिन परिवर्तन के नाम पर अपनी बुनियादी चीजों को अनदेखा करना अनुचित है। हमें खुद को संभालने की आवश्यकता है। हमें स्वयं ही अपने आप की मदद करनी होगी दूसरों के चक्कर में इंतजार करते रह जाना है। विश्वास कीजिए अपने आप पर और भगवान पर जिसने हमें सर्व गुण संपन्न बनाया। प्रयास तो करना ही होगा और कोई विकल्प उपलब्ध नहीं हैं और खुद ही करना होगा ऐसा भी नहीं है कि प्रयास कोई और करे और उपलब्धि हमें मिल जाए। चलो एक बार फिर से कोशिश करते हैं आगे बढ़ने की, कुछ कर गुजरने की। इतिहास रचने की।

इसे👉 पढ़ें :-

निवेश कहा करें

हमारा व्यक्तित्व

 

 

डायमंड्स

 

स्वस्थ व्यक्ति ही जीवन में प्रत्येक वस्तु का आनन्द उठा सकता है।

चलो एक बार फिर से कोशिश करते हैं। इंसान खुद ही प्रकृति की एक बेहतरीन सम्पत्ति है और हम है कि दिन रात लगे हुए है बाहरी सम्पत्तियों को इकट्ठा करने में। बाहरी चीजें भी जरूरी है लेकिन जब शरीर ही स्वस्थ नहीं होगा तो। फिर चाहे कितनी भी धन दौलत कमा लें उसका कोई फायदा नहीं। हां, उसका एक फायदा जरूर होता है उस सम्पत्ति का लाभ हमारे रहते दूसरे लोग उठाते हैं। स्वस्थ व्यक्ति ही जीवन में प्रत्येक वस्तु का आनन्द उठा सकता है। पहले स्वस्थ्य फिर महत्वकांक्षाएं। स्वस्थ व्यक्ति ही हर क्षेत्र में अग्रणी रहता हैं। यकीन कीजिए हमारे अंदर कोई कमी नहीं है। केवल हार जाने के डर को खुद से दूर करके हम अपने आप को और ज्यादा विकसित कर सकते हैं।

जिस भी प्रेरणादायक विषय पर आप पढना चाहते है आप हमें बताएं। हम आपकी पसंद के विषय पर जरूर आर्टिकल लिखेंगे।

टिप्पणियां अवश्य दें।

धन्यवाद 🙏


0 Comments

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published. Required fields are marked *