विचार ही हमारी सबसे बड़ी पूंजी है। (Thought is our biggest asset.)

Published by indertanwar397 on

 

विचार शक्ति के बल पर ही बहुत लोगों ने महान कार्य किए हैं। 

विचार ही हमारी सबसे बड़ी पूंजी है। पूरे विश्व में विचार शक्ति केवल हम इंसानों को दी गई है। ये प्रकृति का विशेष उपहार जो इस धरती पर किसी और जीव को नहीं दिया गया। विचार को इतना छोटा नहीं समझना चाहिए। विचार शक्ति के बल पर ही बहुत लोगों ने महान कार्य किए हैं और दुनिया को जीवन जीने के अनूठे तरीकों से अवगत करवाया है। ‌कहावत भी है जैसा करोगे विचार वैसा होगा व्यवहार, और जैसा करोगे व्यवहार वैसा होगा संसार। आज हम जिस भी परिस्थिति में है, जैसा व्यवहार करते है यह सब हमारे विचारों को ही दर्शाता है। ज्यादातर मामलों में हमें खुद ही नहीं पता होता कि हम किस दिशा में जा रहे हैं।  अगर हम लगातार असफल हो रहे है तो उसका एक ही कारण हो सकता है, या तो हम पूरे मन से प्रयास नहीं कर पा रहे या

फिर हमारा मन  सकारात्मक की अपेक्षा नकारात्मक और हार जाने के विचारों से ज्यादा प्रभावित हैं।विचारों को सही दिशा दी जा सकती है अगर हम अपने माहौल में सकारात्मक परिवर्तन करते है। अच्छी आदतें अपनाने से हमें कभी किसी ने नहीं रोका फिर ऐसी क्या बात है? ऐसी कौन सी शक्ति है जो हमें पाज़िटिव रहने से, अच्छी आदतों को विकसित करने से रोकती हैं? ऐसी शक्ति को विचार शक्ति कहते हैं। सुधार की गुंजाइश हमेशा रहती हैं। विचारों के बल पर ही हम अच्छी और बुरी दोनों तरह की जीवनशैली, आदतों को अपना और छोड़ सकते हैं। विचार ही हमारी सबसे बड़ी पूंजी है।

इसे भी 👉 पढ़ें :-

 

जिंदगी में खुशियां कहां पाऊं।

 

चलो एक बार फिर से कोशिश करते हैं

 

 

मूल्यवान कैसे बनें

 

चैम्पियन की तरह व्यवहार करना होगा

 

हमारे भाव

 

ज्ञान से ही भाग्य का उदय होगा

 

समय हाथ से निकल जा रहा है।

 

 

उत्साह

 

जिम्मेदारी

सफलता प्राप्ति में संस्कारों का महत्व

हमें खुद ही अपने आप को निर्देश देने होंगे।

विचार ही हमारी सबसे बड़ी पूंजी है। हर सुबह जागते समय हमारी मनोदशा पिछली रात को सोते समय की हमारी मन स्थिति से बिल्कुल भिन्न होती है, ये प्रकृति का अद्भुत नियम है। रात को हम चाहे जिस भी मन स्थिति में सोएं सुबह तक हम सामान्य महसूस करते हैं। दूसरों की बात मानने में अहंकार बीच में आ जाता हैं इसलिए हमें खुद ही अपने आप को निर्देश देने होंगे, अपने आप को बेहतर बनाने की कोशिश करनी होगी। अपनी कमियों को ढूंढ कर उनको दूर करने की जिम्मेदारी उठानी होगी। जीवन बड़ा सुंदर और सरल है बस इसको सरलता के साथ जीने का प्रयास करने की आवश्यकता है। सुंदर एवं सरल विचार हमारे भाग्य निर्माण में सहयोग करते हैं।

इन विचारों से ही हमारे वर्तमान और भविष्य जुड़े रहते हैं। खाली दिमाग बुराईयों को ज्यादा जल्दी आकर्षित करता है। कुछ न कुछ सकारात्मक कार्य करते रहना होगा फिर चाहे वो किताबें पढ़ना हो या फिर अपने आपका आंकलन करना, कुछ और नहीं तो एक शानदार और महत्वपूर्ण कार्य है पेड़ लगाए। प्रतिज्ञा करें हर परिस्थिति में महीने भर में एक पेड़ अवश्य लगाउंगा। रुपए कमाना कौन नहीं चाहता। जब सब लोग ज्यादा से ज्यादा कमाई करना चाहते है तो फिर इंतजार किसका है? हमें तुंरत काम पर लगना होगा। विचार ही हमारी सबसे बड़ी पूंजी है।

इसे भी 👉 पढ़ें:

 

धैर्य रूपी अद्भुत क्षमता को कैसे विकसित करें

खुद पर काम करें

 

 विकल्प 

 

प्रार्थना की शक्ति

 

समय ही धन है 

नकारात्मक विचारों को सकारात्मक विचारों, अच्छी आदतों के साथ बदला जा सकता हैं।

विचार ही हमारी सबसे बड़ी पूंजी है। विपरीत परिस्थितियों की कल्पना नहीं उनका सामना करने की आवश्यकता है। हमें ज्यादातर समय बुरी किस्मत या फिर बुरे भविष्य के बारे में सोचते रहते है। मेरे साथ कभी कुछ अच्छा नहीं हो सकता, मेरी तो किस्मत ही ख़राब है। इनके साथ साथ और भी मानसिक समस्याएं हैं, अगर मुझे कुछ हो गया तो?, बुढ़ापे में बच्चों ने अकेला छोड़ दिया तो?, अगर मेरी नौकरी छुट गई तो? बहुत तरह के विचार हमारे मस्तिष्क में घूमते रहते हैं। इस तरह के विचारों को खुद से दूर रखने की आवश्यकता है। क्योंकि यह सब विचार नकारात्मक है जो नुकसान के अलावा कुछ नहीं कर सकते। हमारे अंदर इस तरह के विचारों और भावनाओं से लडने की ताकत है। हम ऐसी भावनाओं में बदलाव कर सकते हैं। 

इन नकारात्मक विचारों और भावनाओं को सकारात्मक विचारों, अच्छी आदतों के साथ बदला जा सकता हैं। सकारात्मक सोच से ही हम अपने लक्ष्य को हासिल करने में सक्षम हो सकते हैं। तुलना करना एक बहुत बड़ी गलती है। हम सब अलग-अलग है। किसी से खुद की तुलना करके हम खुद को ही धोखा दे रहे हैं। दूसरों की अपेक्षा हमें अपने जीवन के फैसलों को खुद ही तय करने की आवश्यकता है। दूसरों को कभी भी पता नहीं चल सकता कि हमें वास्तव में क्या चाहिए? अपने रिमोट को अपने हाथ में ही होना चाहिए। दूसराें के हाथ में नियंत्रण देकर हम कभी भी अपने लक्ष्य को प्राप्त नहीं कर सकते। विचार ही हमारी सबसे बड़ी पूंजी है।

इसे भी 👉 पढ़ें:-

 

जीवन जीने के अनूठे तरीके

 

खुद की मदद कैसे करें

किसी एक विषय पर फोकस करना ज्यादा बेहतर साबित हो सकता हैं।

विचार ही हमारी सबसे बड़ी पूंजी है। अगर हम सोचे कि जितना ज्यादा ज्ञान उतनी ज्यादा कामयाबी, ये बात सही है लेकिन किसी एक विषय पर फोकस करना ज्यादा बेहतर साबित हो सकता हैं। किसी एक विषय में महारत भी हासिल की जा सकती हैं बजाय 5-7 विषयों के। जितना ज्यादा हम एक चीज को समय देते हैं, उतना जल्दी और ज्यादा सकारात्मक परिणाम अर्जित किए जा सकते है। थोड़ी थोड़ी जानकारी प्रत्येक विषय के बारे में होनी चाहिए लेकिन एक विषय के बारे में जानकारी और अच्छी  समझ हमें आगे बढ़ने में ज्यादा मदद करती हैं। किसी भी क्षेत्र में अच्छे परिणाम प्राप्त करने के लिए नियमित रूप से अभ्यास करने की आवश्यकता है। विचार ही हमारी सबसे बड़ी पूंजी है।

प्रकृति में शुद्ध आचरण और व्यवहार कीमती है। आमतौर पर हम अपने व्यवहार, आचरण की जांच करना जरूरी नहीं समझते, इसकी अपेक्षा दूसरों का तुरंत विश्लेषण करने लगते हैं। इस तरह के व्यवहार को बढावा देने के बजाय बदलने की कोशिश करनी होगी। दूसरों की कमियों के विषय में बात करके हमारा कोई फायदा नहीं होगा। विचार ही हमारी सबसे बड़ी पूंजी है।

इसे👉 पढ़ें :-

निवेश कहा करें

हमारा व्यक्तित्व

 

 

डायमंड्स

जिंदगी हमेशा लौटाती हैं कभी किसी को कम ज्यादा देकर भेदभाव नहीं करती।

विचार ही हमारी सबसे बड़ी पूंजी है। हमें खुद पर पहाड़ की तरह अटल विश्वास करने की आवश्यकता है। हम यूं ही अपने भाग्य को कोसते रहते है। हमें वही मिलता है जैसा हम व्यवहार करते हैं, जैसा हम विचार करते है। जिंदगी हमेशा लौटाती हैं कभी किसी को कम ज्यादा देकर भेदभाव नहीं करती। अगर कोई वास्तव में सफलता चाहता है, कामयाबी की ऊंचाइयों को छूना चाहता है तो निंदा, शिकायत, भय जैसी बाधाओं को पार करने का प्रयास करना होगा। अपनी इच्छाशक्ति, इरादों को और ज्यादा मजबूत बनाने की आवश्यकता होगी। इच्छाशक्ति के बलबूते हम वो सब हासिल कर सकते है जिनके हमें सपने आते हैं।

इच्छाशक्ति से भरपूर व्यक्ति कभी भी असफलताओं से नहीं घबराता बल्कि उनसे सीख कर खुद में सुधार करता है और सफलता प्राप्त करता हैं। विचार ही हमारी सबसे बड़ी पूंजी है।

जिस भी प्रेरणादायक विषय पर आप पढना चाहते है आप हमें बताएं। हम आपकी पसंद के विषय पर जरूर आर्टिकल लिखेंगे।

टिप्पणियां अवश्य दें।

धन्यवाद 🙏


0 Comments

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published. Required fields are marked *