साहस ही जिंदगी का दूसरा नाम है। (Courage is the second name of life.)

Published by indertanwar397 on

जीवन में हम सब एक दूसरे से जुड़े हुए हैं।

साहस ही जिंदगी का दूसरा नाम है। मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है। शारीरिक रूप से हम अलग अलग है लेकिन मानसिक रूप से हम सब एक दूसरे से जुड़े हुए हैं। यही कारण है कि हम एक-दूसरे के सुख दुःख का अनुभव कर सकते हैं। हमारे अंदर की बहुत सारी योग्यताओं का विकास समाज में रहकर ही होता हैं। जिंदगी जिंदादिली का नाम है। प्रत्येक व्यक्ति समाज में विशिष्ट और महत्वपूर्ण स्थान रखता है। हमारा भी अपना अलग महत्व है। दुनिया को बदलने की सोच को बदलना होगा। नियम है कि हमें सबसे पहले खुद को बदलना होगा, लोग हमारे व्यवहार, व्यक्तित्व और जीवन जीने के बेहतर तरीकों को देखकर अपने आप बदलना शुरू कर देते हैं। हमें छोटे छोटे प्रयासों से स्वयं में परिवर्तन करने की आवश्यकता है।

इसे भी 👉 पढ़ें :-

जिंदगी में खुशियां कहां पाऊं।

चलो एक बार फिर से कोशिश करते हैंविश्व के महानतम लोगों से सीखना होगा
ऋण तो चुकाना ही होगा
श्रेय देना सीखना होगा

मूल्यवान कैसे बनें

चैम्पियन की तरह व्यवहार करना होगा

हमारे भाव

ज्ञान से ही भाग्य का उदय होगा

समय हाथ से निकल जा रहा है।

उत्साह

जिम्मेदारी

सफलता प्राप्ति में संस्कारों का महत्व

जीवन जीने के लिए हर परिस्थिति को एक कला की तरह देखने की आवश्यकता है।

साहस ही जिंदगी का दूसरा नाम है। हमारा काम जीवन के प्रत्येक अनुभव से लाभ उठाना है। चाहे छोटा हो या बड़ा हर अवसर हमें बहुत कुछ सीखाता है बशर्ते कि हम अपने मन को सीखने के लिए खुला रखें। जीवन जीने के लिए हर परिस्थिति को एक कला की तरह देखने की आवश्यकता है। ताकि हम अपने जीवन को और ज्यादा निखार सकें, और ज्यादा विकसित कर सकें। ऐसा करना बहुत साहस का काम है जिसको किए जाने की आवश्यकता है। अपनी अवस्थाओं और समस्याओं के लिए दूसरों को जिम्मेदार ठहराना बिल्कुल उचित नहीं है। हमें अपने समस्याओं को दूर करने के लिए खुद ही प्रयास करना होगा। दूसरे लोग न तो इसके लिए जिम्मेदार है और न ही वे इसके लिए प्रयासरत रहेंगे।

धैर्य रूपी अद्भुत क्षमता को कैसे विकसित करें

खुद पर काम करें
महत्वकांक्षा
पहला कदम

स्वस्थ मन

अपने आत्मविश्वास कौशल पर विश्वास 

सही दिशा

 विकल्प 

प्रार्थना की शक्ति

समय ही धन है 

हंसते मुस्कुराते हुए जीवन को हर परिस्थिति में सुखद और सुंदर बनाया जा सकता है।

साहस ही जिंदगी का दूसरा नाम है। जीवन में कितनी भी असफलताओं का सामना करना पड़े, कितनी भी विपरीत परिस्थितियां हो, हार नहीं माननी। सदैव पाज़िटिव एटिट्यूड रखने की आवश्यकता है, हंसते मुस्कुराते हुए जीवन को हर परिस्थिति में सुखद और सुंदर बनाया जा सकता है। और खुद को मोटिवेट करते रहना होगा। वास्तव में हमारी असफलता में ही सफलता का सीक्रेट छिपा होता। सफलता और असफलता एक दूसरे के पूरक हैं इनको एक दूसरे से अलग नहीं किया जा सकता। ये प्रकृति का नियम है जहां एक होगी वहां दूसरी अवश्य होगी। इसलिए बिना मतलब परेशान होने की आवश्यकता नहीं है।

इसे भी 👉 पढ़ें:-

जीवन जीने के अनूठे तरीके

खुद की मदद कैसे करें

कोशिश करने से पीछे न हटें

असंभव कुछ भी नहीं

ऊर्जा का स्तर

सामर्थ्य

आशावादी दृष्टिकोण

समय ही धन है

स्वस्थ जीवन जीने के तरीके 

स्वमान

सफल व्यक्ति वो होते है जो तत्काल उठकर काम करना शुरू कर देते हैं।

हमेशा सकारात्मक सोच रखते हुए प्रयास करते रहना ही सबसे महत्वपूर्ण और साहस का काम है। हमेशा याद रखना होगा कि हमारे द्वारा किया गया छोटे से छोटा प्रयास भी कभी व्यर्थ नहीं जाता। सफल व्यक्ति वो होते है जो तत्काल उठकर काम करना शुरू कर देते हैं। व्यर्थ में समय को बर्बाद नहीं करते। किसी चीज को शुरू करने का सबसे उपयुक्त समय अभी है, कल नहीं। अगर हमने किसी काम को कल पर छोड़ दिया तो उस काम के कभी न होने की संभावना बढ़ जाती है। इसलिए बेहतर यही होगा कि हम अपने आप को इतना मज़बूत बनाएं, इतना साहसी बनाएं कि हमें कोई काम कल पर टालने की आवश्यकता ही न पड़े। कामों को दिन प्रतिदिन लटकाए रखना असफलता की ओर बढ़ते कदमों के संकेत हैं। इसलिए आलस्य छोड़ कार्य शुरू करना ही होगा।

इसे👉 पढ़ें :-

स्वस्थ सोच

निवेश कहा करें

श्रेय देना सीखना होगा

आनंदमय जीवन

सच्ची खुशी

सरल जीवन

सफल आदतें

हमेशा खुश कैसे रहें

डायमंड्स

स्पष्टवादी, आशावादी और साहस से भरपूर बनना होगा।

साहस ही जिंदगी का दूसरा नाम है। नहीं कहना भी सीखना होगा। स्पष्टवादी, आशावादी और साहस से भरपूर बनना होगा और परिस्थिति अनुसार नहीं कहने में भी संकोच न करें। कभी कभी हमारा न कहने का साहस हमें कई अड़चनों और परेशानियों से बचा लेता है। यह जरूरी नहीं कि किसी को मना करने के लिए हम रूखा और अपमानजनक व्यवहार करें। विनम्रता और सादगीपूर्ण तरीके से भी मना किया जा सकता है और विनम्रता से मना किए गए किसी काम पर सामने वाले व्यक्ति की नाराज़ होने की संभावना बहुत कम होती हैं। दूसरों का सम्मान करना बहुत जरूरी है लेकिन सम्मान की आड़ में दूसरों के प्रभाव में न बह जाएं। अगर हम वाकई कुछ बेहतर करने की इच्छा रखते है तो हमें वो सब करना होगा जिस काम को करना सामान्य व्यक्ति व्यर्थ समझता है।

अपने आप को बेहतर बनाने में समय का ज्यादा से ज्यादा निवेश हमेशा लाभकारी होता है।

कम्फर्ट ज़ोन को छोड़ने की आवश्यकता है। हमारा लक्ष्य दूसरों को खुश रखने की बजाय आत्मविकास होना चाहिए। इसके साथ ही समय प्रबंधन का विशेष ध्यान रखना होगा कामयाब होने के लिए। हमें हर दिन की समीक्षा करनी होगी और व्यर्थ के कार्यों को अपने जीवन और व्यवहार से दूर रखने की आवश्यकता है। अपने आप को बेहतर बनाने में समय का ज्यादा से ज्यादा निवेश हमेशा लाभकारी होता है। इससे हम व्यक्तित्व निर्माण में अपना श्रेष्ठ योगदान दे पाएंगे। साहस तो दिखाना ही होगा नहीं तो पछताने के लिए तैयार रहें।

प्रसन्नता, आनंदमय और साहस के साथ हमें जीवन जीने की कला को विकसित करने की आवश्यकता है।

साहस ही जिंदगी का दूसरा नाम है। हमेशा परमात्मा के समीप रहने का प्रयास करने की जरूरत है। हम जो कुछ भी करें ईश्वर हमारे सामने होना चाहिए। प्रत्येक कार्य को ईश्वर को धन्यवाद देते हुए शुरू करना होगा। इससे हमारे हर कार्य में सफलता प्राप्ति की संभावना बढ़ जाती है। प्रसन्नता, आनंदमय और साहस के साथ हमें जीवन जीने की कला को विकसित करने की आवश्यकता है। और ये साहसपूर्ण कार्य हमें करना ही होगा। परमात्मा साथ है तो फिर घबराने की क्या बात है।

जिस भी प्रेरणादायक विषय पर आप पढना चाहते है आप हमें बताएं। हम आपकी पसंद के विषय पर जरूर आर्टिकल लिखेंगे।

टिप्पणियां अवश्य दें।

धन्यवाद 🙏

Categories: Enthusiasm

0 Comments

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published. Required fields are marked *