इस तरह हम खुद के लिए नए अवसरों का निर्माण कर पाएंगे। (In this way we will be able to create new opportunities for ourselves.)

Published by indertanwar397 on

ठीक हमारे जैसा सामर्थ्य और सोचने की क्षमता मिलना दुर्लभ है।

इस तरह हम खुद के लिए एक नए अवसर का निर्माण कर पाएंगे। अच्छे काम को हमेशा प्राथमिकता देने से सफलता हासिल करने की संभावना बढ़ जाती है। अगर कोई हमारे अच्छे विचारों और कार्यों पर संदेह करें तो चिंतित न हो क्योंकि सोना (गोल्ड) कितना खरा है इसकी जांच की जाती है कोयले की जांच करने की आवश्यकता नहीं पड़ती। मूल रूप से हम सब श्रेष्ठ गुणों से भरपूर और सौहार्दपूर्ण हैं। वास्तव में ठीक हमारे जैसा सामर्थ्य और सोचने की क्षमता दुर्लभ है। क्योंकी हमें अनूठा बनाया गया है। परिवर्तन स्थाई होता है। इसीलिए हमें समय के साथ साथ स्वयं में बदलाव लाने की आवश्यकता पड़ती है। और ये बदलाव जरूरी भी होता है। अंततः  हमारा उद्देश्य जीवन को सरल और स्वाभाविक रूप से जीना ही है। मेहनत तो करनी ही पड़ेगी क्योंकि इसके अलावा कोई और विकल्प नहीं है।

इसे भी पढ़ें :-

सहयोग से ही हम जीवन में सफलता प्राप्त करते हैं।

जिंदगी में खुशियां कहां पाऊं।

मूल्यवान कैसे बनें।

चैम्पियन की तरह व्यवहार करना होगा

हमारे भाव

ज्ञान से ही भाग्य का उदय होगा

समय हाथ से निकल जा रहा है।

उत्साह

जिम्मेदारी

सफलता प्राप्ति में संस्कारों का महत्त्व

असफलताओं को सफलता में बदलने वाले मुख्य तरीके

जीवन की खुबसूरती ईश्वर के प्रति कृतज्ञता की भावना रखने में ही होती हैं।

इस तरह हम खुद के लिए एक नए अवसर का निर्माण कर पाएंगे। किसी भी परिस्थिति में ईश्वर पर से विश्वास न डगमगाए। क्योंकी वो छोटे से छोटे जीव का भी बहुत अद्भुत तरीके से ख्याल रखते है तो फिर हमारा भी ध्यान रखेंगे। बस हमारा भरोसा एक क्षण के लिए भी उन पर से न उठें। जीवन की खुबसूरती ईश्वर के प्रति कृतज्ञता की भावना रखने में ही होती हैं। कृतज्ञता व्यक्त करना भगवान की पूजा करने जैसा ही है। नियमित रूप से ऐसा करके हम अपनी क्षमताओं और कार्य करने की ऊर्जा वृद्धि कर सकते हैं। वस्तुत: जीवन में विकास के लिए कृतज्ञता अनिवार्य रूप से आवश्यक है। इस महत्वपूर्ण विशेषता को विकसित करना अत्यंत आवश्यक है। क्योंकी इस दुनियां में अहसानमंद लोग सामान्य की अपेक्षा ज्यादा बेहतर स्थिति में रहते हैं। इस खुबसूरत जीवन को और ज्यादा सुंदर और खुशनुमा बनाने की आवश्यकता है।

इसे भी पढ़ें

मानसिक बदलाव ही सफलता का मूलमंत्र है।

जीवन जीने के अनूठे तरीके।

खुद की मदद कैसे करें।

कोशिश करने से पीछे न हटें।

असंभव कुछ भी नहीं

ऊर्जा का स्तर

सामर्थ्य

आशावादी दृष्टिकोण

समय ही धन है

स्वस्थ जीवन जीने के तरीके।

स्वमान

परिवर्तनों से घबराने की बजाय उनका आदर करना होगा

दोस्त वहीं जो मुश्किल समय में काम आएं इसलिए किताबों को सच्चा मित्र बताया गया है।

इस तरह हम खुद के लिए एक नए अवसर का निर्माण कर पाएंगे। व्यवहार को समृद्ध करने की आवश्यकता है। क्योंकि किताबों से प्राप्त ज्ञान तभी लाभकारी होगा जब इसके आधार पर व्यवहार में आमूलचूल परिवर्तन किया जाएं। दोस्त वहीं जो मुश्किल समय में काम आएं इसलिए किताबों को सच्चा मित्र बताया गया है। सामान्यतः दुःख में दोस्त, रिस्तेदार, दूरी बना लेते हैं लेकिन किताबें उस वक्त भी साथ निभाएंगी जब सारी दुनिया हमारे विरुद्ध खडी होगी। जीवन में नए अवसर तभी हासिल हो सकते है जब हम ख़ुद पर भरोसा करते हुए, निरंतर प्रयास करते रहे। वस्तुत: प्राकृतिक नियम सभी पर लागू होते हैं। अगर हम अच्छे नियमों और संस्कारों का नियमित रूप से पालन करते हैं तो पूरी प्रकृति हमारे पक्ष में काम करने लग जाती है। दुनिया की कोई ताकत हमें लक्ष्य हासिल करने से नहीं रोक सकती।

इसे भी पढ़ें :-

खुशी हमारे लिए क्यों महत्वपूर्ण है?

विचार ही सबसे बड़ी पूंजी है।

निवेश कहा करें।

हमारा व्यक्तित्व

चलो एक बार फिर से कोशिश करते हैं।

जीवन के मुख्य गुण क्या हैं?

आनंदमय जीवन

सच्ची खुशी

सरल जीवन

सफल आदतें

हमेशा खुश कैसे रहें

डायमंड्स

छोटे छोटे कार्यों को पहले निपटा सकते हैं फिर बड़े काम को शुरू किया जा सकता है।

इस तरह हम खुद के लिए एक नए अवसर का निर्माण कर पाएंगे। सामान्यतः टालमटोल  प्रत्येक मनुष्य के स्वभाव में होता है। लेकिन शानदार और सामान्य कार्य करने वालों के बीच अंतर काफी हद तक इस बात पर निर्भर करता है कि लोग किस काम में टालमटोल करने का विकल्प चुनते हैं। सामान्य कार्यों को टालना इतनी जटिल परिस्थितियां पैदा नहीं करता जितना की महत्वपूर्ण कार्यों को टालने से होती है। छोटे छोटे कार्यों को पहले निपटा सकते हैं फिर बड़े काम को शुरू किया जा सकता है। बड़े कामों की शुरुआत के लिए असाधारण क्षमताओं का होना जरूरी होता हैं। अगर जोश जोश में बड़े कार्यों को पहले किया जाएं और सफलता हासिल न हो तो बड़े के साथ साथ छोटे कामों को भी नहीं किया जाता। हमें प्रतिबद्ध होना होगा कि कम महत्व की चीजों को कम समय और ज्यादा महत्व की चीजों को ज्यादा समय दिया जाएं। 

इसे भी  पढ़ें:

जीवन जीने के अनूठे तरीके।

धैर्य रूपी अद्भुत क्षमता को कैसे विकसित करें

स्वस्थ मन

पहला कदम

महत्वकांक्षा

कृतज्ञता

अपने आत्मविश्वास कौशल पर विश्वास 

सही दिशा

 विकल्प हमारे पास ही है।

प्रार्थना की शक्ति

समय ही धन है 

बुनियादी गुणों को विकसित करके हम अपने जीवन में जितने चाहे उतने अवसरों का सृजन कर सकते हैं।

इस तरह हम खुद के लिए एक नए अवसर का निर्माण कर पाएंगे। कामयाब होने का कोई छोटा रास्ता नहीं होता। अपने लक्ष्य के प्रति समर्पण की भावना रखनी बहुत महत्वपूर्ण है। एक सफल व्यक्ति और सामान्य व्यक्ति  में मूल रूप से यही अंतर होता है, जिस काम को साधारण व्यक्ति छोटा समझकर करना उचित नहीं समझता, कामयाब व्यक्ति उसी काम को करने में अपने आप को पूरा झोंक देते हैं। बुनियादी गुणों को विकसित करके हम अपने जीवन में जितने चाहे उतने अवसरों का सृजन कर सकते हैं। कामयाब लोग किसी भी तरह से हमसे अलग नहीं है। इन विशेषताओं को विकसित करके अवसरों का लाभ उठाना ही सक्सेसफुल व्यक्तित्व की पहचान होती है। आंकलन करना अनिवार्य रूप से आवश्यक हैं क्योंकि यही वो तरीका है जिससे हमें अपने गुणों और अवगुणों की पहचान होती है। समय का सही जगह निवेश किया जाना अनिवार्य है।

 इसे भी पढ़ें:-

निंरतर प्रयास से बेहतर कैसे बनें।

आदतों में सुधार।

स्वीकार करना सीखना होगा।

असंभव कुछ भी नहीं।

सीखना कभी भी बंद नहीं करना होता क्योंकि जीवन कभी भी सीखाना बंद नहीं करता।

इस तरह हम खुद के लिए एक नए अवसर का निर्माण कर पाएंगे। हमेशा सजग और सक्रिय रहना अपने आप में ही एक उपलब्धि है। हालांकि, हम अपने जीवन में सजग और सक्रिय रहने का भरसक प्रयत्न करते हैं। फिर भी संतोषजनक जीवन जीने के लिए पूर्ण  सजगता और सक्रियता की आवश्यकता होती है। इसमें आलस्य के लिए कोई जगह नहीं होती। आलस्य को त्यागकर ही हम अपने लिए नए अवसरों का निर्माण कर सकते हैं। सीखना कभी भी बंद नहीं करना होता क्योंकि जीवन कभी भी सीखाना बंद नहीं करता। हम अपने माइंड सेट को जैसा चाहे वैसा बना सकते हैं। ईश्वर द्वारा प्रदत्त केवल यही एक पावरफुल ताकत है जो हमें दूसरे जीवों से विलग करती हैं। केवल इंसान ही अपने विचारों द्वारा अपने व्यवहार और आचरण में बदलाव कर सकते हैं। इस शक्ति को खुद को विकसित करने में उपयोग किया जा सकता है।

हमारा जीवन सोने (गोल्ड) जैसा है इसे जितना तपाते जाएंगे यह उतना निखारता जाएगा।

इस तरह हम खुद के लिए एक नए अवसर का निर्माण कर पाएंगे। हमारे अंदर अनंत संभावनाएं मौजूद हैं। ये संभावनाएं मेहनत और काम के प्रति समर्पण की भावना से ही मूर्त रूप लेती हैं। इन संभावनाओं के पूर्ण विकास के लिए खुद पर काम करने की आवश्यकता है। दूसरों के जैसा बनने की कोशिश करना अपने अंदर छिपे अवसरों को खत्म करने जैसा होगा। अपनी क्षमताओं को और ज्यादा बेहतर बनाने की कोशिश करनी होगी ताकि समय रहते अवसरों का लाभ उठा सकें। हमारा जीवन सोने (गोल्ड) जैसा है इसे जितना तपाते जाएंगे यह उतना निखारता जाएगा। हालांकि, हम अपनी तरफ से बहुत कोशिश भी करते हैं सफलता हासिल करने के लिए परन्तु  कई बार आलस्य के कारण कोशिशों को बीच में ही छोड़ देते हैं। उन्नति के लिए मेहनत करने के साथ साथ धैर्य रखना भी सीखना होगा।

Categories: Uncategorized

0 Comments

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published. Required fields are marked *