मुश्किल समय में खुद को सहज और आत्मविश्वासी कैसे बनाए? (How to make yourself comfortable and confident in difficult times?)

Published by indertanwar397 on

मुश्किल परिस्थितियों को हम बड़े सहजता और विश्वास के साथ पार कर पाएंगे।

मुश्किल समय में खुद को सहज और आत्मविश्वासी कैसे बनाए? सबसे पहले तो इस बात को समझना होगा कि समय अच्छा या बुरा नहीं होता। समय तो एक समान ही रहता है। अच्छे और बुरे तो हालात होते हैं, परिस्थितियां अच्छी और बुरी होती है। मान लिजिए अगर कोई कहें कि हम अपनी परिक्षा में असफल होने वाले हैं और हमारा चांस भी आखिरी है तो फिर क्या होगा? तो हम पूरे प्राणों से मेहनत करेंगे और सफलता हासिल करके रहेंगे। ठीक इसी तरह अगर हम विपरीत परिस्थितियों के लिए खुद को पहले से ही मोटिवेट करें, प्रेरित करते रहे तो मुश्किल परिस्थितियों को हम बड़े सहजता और विश्वास के साथ पार कर पाएंगे और फिर सफलता को आना ही होगा हमारे लिए, हमारे पास।  वस्तुत: हमें मेहनत करने के साथ साथ विपरीत परिस्थितियों और मुश्किलों के लिए खुद को पहले से ही तैयार रहने की आवश्यकता है। 

इसे भी पढ़ें :-

सहयोग से ही हम जीवन में सफलता प्राप्त करते हैं।

जिंदगी में खुशियां कहां पाऊं।

मूल्यवान कैसे बनें।

चैम्पियन की तरह व्यवहार करना होगा

हमारे भाव

ज्ञान से ही भाग्य का उदय होगा

समय हाथ से निकल जा रहा है।

उत्साह

जिम्मेदारी

सफलता प्राप्ति में संस्कारों का महत्त्व

असफलताओं को सफलता में बदलने वाले मुख्य तरीके

मेहनत के साथ साथ खुद को मानसिक रूप से तैयार रखने की आवश्यकता है।

मुश्किल समय में खुद को सहज और आत्मविश्वासी कैसे बनाए? खुद पर यकीन रखते हुए प्रयास करते रहने से ही हमारी परफोर्मेंस में बढ़ोतरी हो सकती है। परफोर्मेंस बेहतर होगी तो कामयाब होने की संभावना बढ़ जाती है। हमारा आत्मविश्वास कौशल विकसित होने लगता है। कुछ लोग हमेशा साहस का परिचय देते है। परिस्थितियां चाहें अच्छी हो या फिर बुरी ऐसे व्यक्ति हर परिस्थिति के लिए खुद को सदैव तैयार रखते हैं। ऐसे साहसी लोग दूसरों के लिए प्रेरणा स्रोत होते हैं। ये लोग मेहनत के साथ साथ खुद को मानसिक रूप से तैयार रखते हैं। मेहनत को ये लोग अपनी आदतों में सुमार कर लेते हैं, और आत्मविश्वास से हमेशा लबरेज रहते है। हमें खुद आगे बढ़कर अपने लिए काम करना होगा। क्योंकी इस दुनियां में जिसने खुद को संभाल लिया, उसने जीवन में खुद भी बेहतर हासिल किया और दूसरों को भी बेहतर बनने के रास्ते बताएं।

इसे भी  पढ़ें

मानसिक बदलाव ही सफलता का मूलमंत्र है।

जीवन जीने के अनूठे तरीके।

खुद की मदद कैसे करें।

कोशिश करने से पीछे न हटें।

असंभव कुछ भी नहीं

ऊर्जा का स्तर

सामर्थ्य

आशावादी दृष्टिकोण

समय ही धन है

स्वस्थ जीवन जीने के तरीके।

स्वमान

परिवर्तनों से घबराने की बजाय उनका आदर करना होगा

किताबें पढ़ना अपने आप में ही एक शानदार और मुश्किल कार्य है।

मुश्किल समय में खुद को सहज और आत्मविश्वासी कैसे बनाए? आज हमने बहुत उन्नति कर ली है। तरक्की करना सबको अच्छा लगता है। लेकिन तकनीक का उपयोग उचित तरीके से किया जाना अनिवार्य है। सामान्यतः आज़ हमने अपने आप को आलस्य के हवाले कर दिया है। ज्यादातर मौकों पर यह बिमारी हमारे अंदर दिखाई दे जाती है। तकनीक ने हमें मजबूत बनाने का काम किया है। जिस प्रकार किसी वस्तु की अत्यधिक मात्रा हमेशा लाभकारी नहीं होती ठीक उसी तरह टीवी, मोबाइल फोन का अत्यधिक उपयोग हमें हर तरह से कमजोर करने का काम करता है। विपरीत परिस्थितियों से निपटने के लिए हमें मन से मजबूत होने की जरूरत है। इसके लिए सबसे बेहतरीन उपाय है प्रेरणादायक किताबें पढ़ना। किताबें पढ़ना अपने आप में ही एक शानदार और मुश्किल कार्य है। लोगों की अपेक्षा बुक्स पर निर्भर रहना ज्यादा फायदेमंद साबित हो सकता है।

इसे भी  पढ़ें:-

खुशी हमारे लिए क्यों महत्वपूर्ण है?

विचार ही सबसे बड़ी पूंजी है।

निवेश कहा करें।

हमारा व्यक्तित्व

चलो एक बार फिर से कोशिश करते हैं।

जीवन के मुख्य गुण क्या हैं?

आनंदमय जीवन

सच्ची खुशी

सरल जीवन

सफल आदतें

हमेशा खुश कैसे रहें

डायमंड्स

एक स्वस्थ व्यक्ति ही खुद के लिए और समाज के लिए बेहतर कर सकता हैं।

मुश्किल समय में खुद को सहज और आत्मविश्वासी कैसे बनाए? एक स्वस्थ व्यक्ति सामान्य की तुलना में अधिक आत्मविश्वासी और साहस से परिपूर्ण होता हैं। इस लिए स्वास्थ्य संबंधी आदतों को निरंतर अभ्यास द्वारा अपनाया जा सकता है। अगर छोटी छोटी बातों और आदतों से हमारे भविष्य का निर्धारण होता है तो क्या हमें इन बातों को अपने व्यवहार में शामिल नहीं करना चाहिए? इससे न केवल हमें स्वास्थ्य लाभ मिलेगा बल्कि हमारे स्वभाव में भी मौलिक गुणों की झलक दिखाई देने लगेगी। एक स्वस्थ व्यक्ति ही खुद के लिए और समाज के लिए बेहतर कर सकता हैं। हमें अपने अंदर शानदार परिवर्तन करना होगा। इन कार्यों का प्रतिदिन हिसाब रखना होगा। नियमित हिसाब किताब से हर चीज़ को दुरुस्त किया जा सकता है। फिर चाहे वो रुपए हो, स्वास्थ्य हो या फिर मौलिक गुणों को विकसित करना हो।

पढ़ें:

जीवन जीने के अनूठे तरीके।

धैर्य रूपी अद्भुत क्षमता को कैसे विकसित करें

स्वस्थ मन

पहला कदम

महत्वकांक्षा

कृतज्ञता

अपने आत्मविश्वास कौशल पर विश्वास 

सही दिशा

 विकल्प हमारे पास ही है।

प्रार्थना की शक्ति

समय ही धन है 

हमें हार को स्वीकार करने और कभी भी हिम्मत नहीं हारने की शिक्षा दी जाने की आवश्यकता है।

मुश्किल समय में खुद को सहज और आत्मविश्वासी कैसे बनाए? सही दिशा में काम करना ही हमारे बस में हैं। सफल होने के लिए हमें स्वयं को पूरी तरह से तैयार करना होगा। क्योंकी सफलता के मार्ग में बहुत बाधाएं आएंगी, बहुत निराशा होगी, कई बार हमारा विश्वास भी डगमगायेगा। इन सब बातों को पहले से ही ध्यान रख कर चलना होगा। वास्तव में हम सफल लोगों का केवल सफलता वाला क्षण ही देख पाते हैं। हम शिखर पर पहुंचे लोगों के जीवन में आई विपरीत परिस्थितियों और असफलताओं को नहीं देख पाते। हमें हार को स्वीकार करने और कभी भी हिम्मत नहीं हारने की शिक्षा दी जाने की आवश्यकता है। वस्तुत: यह एक शानदार विकल्प होगा। अगर हम अपने वर्तमान में हो रही गतिविधियों को नियंत्रित करना सीख जाते है तो अपने भविष्य को मन चाहा रूप दे सकते हैं। सुंदर विचारों से सुंदर भविष्य बनाया जा सकता है।

इसे भी पढ़ें:-

निंरतर प्रयास से बेहतर कैसे बनें।

आदतों में सुधार।

स्वीकार करना सीखना होगा।

असंभव कुछ भी नहीं।

बदलाव तो करना ही होगा नहीं तो पछताने के अलावा कोई और विकल्प नहीं रहेगा।

मुश्किल समय में खुद को सहज और आत्मविश्वासी कैसे बनाए? सफल लोगों की संगत हमें सहज और आत्मविश्वासी होने में सहयोग करती हैं। क्योंकी जैसी होगी संगत  वैसा हमारा व्यक्तित्व और व्यवहार होगा। इसीलिए संगत को महत्वपूर्ण बताया गया है। अगर हम सफल होना चाहते है और संगत ऐसे लोगों की करते हैं जो हमेशा निराशा, असफलता और उत्साहहीनता की बातें करते हैं तो हमारे सफल होने की संभावना बहुत कम हो जाती है। अगर हमारे आस-पास उत्साह, जोश और उमंग से भरपूर लोग नहीं हैं तो किताबों का सहारा सर्वोत्तम है। बदलाव तो करना ही होगा नहीं तो पछताने के अलावा कोई और विकल्प नहीं रहेगा। हमें खुद को बेहतर बनाने की राह में पूरी तरह से न्यौछावर करने की आवश्यकता है। याद रखना होगा कि सफलता का कोई शार्ट कट नहीं होता। इसके लिए तो सही मार्गदर्शन में निरंतर प्रयास करते रहना होगा।

अपनी क्षमताओं को विकसित करने में समय का निवेश करना हमेशा लाभकारी रहता है।

मुश्किल समय में खुद को सहज और आत्मविश्वासी कैसे बनाए? जीवन में सबको सम्मान और आदर देने से ही हमारे सम्मान में वृद्धि हो सकती है। एक जेंटलमैन की भांति हमें सकारात्मक विचारों से भरपूर होना होगा। यह सब चीजें हमारे अंदर आत्मविश्वास को बढ़ाने का काम करेगा। अपनी क्षमताओं को विकसित करने में समय का निवेश करना हमेशा लाभकारी रहता है। इसके अलावा भगवान पर भरोसा करना भी एक महत्वपूर्ण और शानदार क़दम साबित होगा। यह सब बातें बहुत महत्वपूर्ण होती है। वास्तव में ईश्वर में आस्था रखने से हमारी क्षमताओं में वृद्धि महसूस की जा सकती हैं। ईश्वर ने हमें इतना सुन्दर जीवन दिया है तो हमारी भी जिम्मेदारी बनती है कि उनके प्रति कृतज्ञता व्यक्त करते रहें। पूरी प्रकृति ईश्वर की स्तुति करने में व्यस्त हैं तो हमें भी पीछे नहीं हटना चाहिए। अपनी कमियों को दूर करके बेहतर बनाने का सही समय यही है।

Categories: Uncategorized

0 Comments

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published. Required fields are marked *