कहने की अपेक्षा लोग किए गए कार्यों से ज्यादा प्रभावित होते हैं। (People are more influenced by what is done than by what they say.)

Published by indertanwar397 on

सोच बड़ा करने की आवश्यकता है क्योंकि इंसान की सोच ही उसे बड़ा बनाती है।

कहने की अपेक्षा लोग किए गए कार्यों से ज्यादा प्रभावित होते हैं। सुनने की अपेक्षा कार्य करने वाले सामान्य की तुलना में ज्यादा बेहतर जीवन व्यतीत करते हैं। क्योंकी बोलने की अपेक्षा किसी की बात सुनने से हमें अपनी क्षमताओं को ज्यादा बेहतर बनाने, खुद को सुधारने  का मौका मिल जाता हैं। एक बार फिर कोशिश करने का अवसर मिलता हैं। इसके अलावा अपनी सोच को बड़ा करने की आवश्यकता है क्योंकि इंसान की सोच ही उसे बड़ा बनाती है जरूरी नहीं इसके लिए उसके पास बहुत ज्यादा ज्ञान हो, बहुत सारी डिग्रीयां हो। जीवन में ऐशों आराम के साथ सथ संतोष होना भी अत्यंत जरूरी है। सफलता हमेशा अच्छे विचारों से आती है, और अच्छे विचार अच्छे लोगों की संगत से आते हैं। इसीलिए हमेशा अपनी संगति का आंकलन करते रहने की आवश्यकता है।

अपने इगो को थोड़े समय के लिए त्याग देना सफलता प्राप्ति में सहायक साबित हो सकता हैं। 

इसे भी  पढ़ें :-

सहयोग से ही हम जीवन में सफलता प्राप्त करते हैं।

जिंदगी में खुशियां कहां पाऊं।

मूल्यवान कैसे बनें।

चैम्पियन की तरह व्यवहार करना होगा

हमारे भाव

ज्ञान से ही भाग्य का उदय होगा

समय हाथ से निकल जा रहा है।

उत्साह

जिम्मेदारी

सफलता प्राप्ति में संस्कारों का महत्त्व

असफलताओं को सफलता में बदलने वाले मुख्य तरीके

बोलने की अपेक्षा कुछ बेहतर कार्य करके खुद को साबित करने की आवश्यकता है।

कहने की अपेक्षा लोग किए गए कार्यों से ज्यादा प्रभावित होते हैं। स्वाभाविक रूप से सब इच्छा रखते है कि लोग उनकी बात सुनें, उनके विचारों का अनुसरण करें। परंतु  इंसान सुनने की अपेक्षा किए गए कार्यों और व्यवहार से ज्यादा प्रभावित होता हैं। हमें अपनी बात को कहने की अपेक्षा लागू करके दिखाने की ज्यादा जरूरत है।  महान लोगों को हम महान इसीलिए कहते है क्योंकि उन्होने बोलने की अपेक्षा कुछ बेहतर कार्य करके खुद को साबित किया है। हमें भी खुद को बेहतर कार्यों में शामिल करने की आवश्यकता है। हमें अपने हौसले रूपी तरकस में उन तीरों को अवश्य रखना होगा जो हार जाने के बाद भी फिर से जीतने की उम्मीद को जिंदा रखने में हमारी मदद करें। इस बात को भली भांति समझना होगा कि जब हम किसी चीज की महत्वकांक्षा रखते हैं तो पूरी प्रकृति एकजुट होकर हमारी मदद करने में लग जाती हैं।

इसे भी  पढ़ें

मानसिक बदलाव ही सफलता का मूलमंत्र है।

जीवन जीने के अनूठे तरीके।

खुद की मदद कैसे करें।

कोशिश करने से पीछे न हटें।

असंभव कुछ भी नहीं

ऊर्जा का स्तर

सामर्थ्य

आशावादी दृष्टिकोण

समय ही धन है

स्वस्थ जीवन जीने के तरीके।

स्वमान

परिवर्तनों से घबराने की बजाय उनका आदर करना होगा

समय के महत्व को समझकर ही हम अपने गंतव्य तक पहुंच सकते हैं।

कहने की अपेक्षा लोग किए गए कार्यों से ज्यादा प्रभावित होते हैं। समय के महत्व को समझकर ही हम अपने प्रारब्ध तक पहुंच सकते हैं। समय को बेकार नष्ट करना खुद के पांव पर कुल्हाड़ी मारने जैसा है। समय का सदुपयोग करना सीखना थोड़ा मुश्किल जरूर है लेकिन कोशिश करनी होगी। अपने गंतव्य का अनुसरण तब तक करना होगा जब तक हम उस पर पहुंच न जाएं। समय के महत्व को समझकर ही हम अपने गंतव्य तक पहुंच सकते हैं और दूसरों को भी प्रेरित कर सकते हैं। वास्तव में हम महान लोगों के काम से ज्यादा प्रभावित होते हैं। दुनिया के महानतम लोगों ने समय का पूरा सम्मान किया और दूसरों के लिए प्रेरणास्रोत बने। अपने उद्देश्यों को हर परिस्थिति में याद रखते हुए खुद को मोटिवेट करना होगा और तब तक उत्साह एवं जोश से काम करना होगा जब तक हम अपने सपनों को पूरा नहीं कर लेते। 

इसे  भी पढ़ें :-

खुशी हमारे लिए क्यों महत्वपूर्ण है?

विचार ही सबसे बड़ी पूंजी है।

निवेश कहा करें।

हमारा व्यक्तित्व

चलो एक बार फिर से कोशिश करते हैं।

जीवन के मुख्य गुण क्या हैं?

आनंदमय जीवन

सच्ची खुशी

सरल जीवन

सफल आदतें

हमेशा खुश कैसे रहें

डायमंड्स

हम अपने वर्तमान और भविष्य में बदलाव जरूर ला सकते हैं।

कहने की अपेक्षा लोग किए गए कार्यों से ज्यादा प्रभावित होते हैं। हमारे कार्य हमारे विचारों से प्रभावित होते है। सम्भवतः जिन चीजों पर हम ज्यादा गहराई से विचार करते है वही हमारा व्यवहार बन जाते है और हमारे कार्यों को प्रभावित करते हैं। बीते समय में किए गए कार्यों के विषय में ज्यादा सोचते रहना खुद को आगे बढ़ने से रोकने जैसा है। हम अपने बीते समय को नहीं बदल सकते लेकिन अपने वर्तमान और भविष्य में बदलाव जरूर ला सकते हैं। इसीलिए कोशिश यही होनी चाहिए कि पुरानी बातों को भूलकर अपने वर्तमान और आने वाले समय को बेहतर बनाने पर जोर दिया जाएं। भविष्य को सुंदर और सुखमय बनाने के लिए हमें अपने वर्तमान समय में ही प्रयास करना होगा। हमारे अंदर एक अद्भुत और असाधारण इंसान छिपा हुआ है। हम भी महान लोगों की तरह इस दुनियां के लिए कुछ बेहतर कर सकते हैं।

इसे भी  पढ़ें:

जीवन जीने के अनूठे तरीके।

धैर्य रूपी अद्भुत क्षमता को कैसे विकसित करें

स्वस्थ मन

पहला कदम

महत्वकांक्षा

कृतज्ञता

अपने आत्मविश्वास कौशल पर विश्वास 

सही दिशा

 विकल्प हमारे पास ही है।

प्रार्थना की शक्ति

समय ही धन है 

सफलता हमारी बाट जोह रही है। इंतजार करना व्यर्थ है।

कहने की अपेक्षा लोग किए गए कार्यों से ज्यादा प्रभावित होते हैं। हमारे आस-पास ही कुछ लोग ऐसे भी है जो बार बार नाकामयाब होने के बाद भी अपने आप को फिर से ओर ज्यादा उत्साह और उमंग के साथ काम करते रहते है। अंततः वे सफलता को अपने पक्ष में कर ही लेते हैं। आखिर कब तक हम नकारात्मकता के अंधकार में भटकते रहेंगे। कभी तो खुद को संभालना ही होगा। सफलता हमारी बाट जोह रही है। इंतजार करना व्यर्थ है।  हमें खुद से प्रोमिस करना होगा कि जब तक अपने सपनों को पूरा नहीं कर लेते तब तक चैन से नहीं बैठेंगे।  उत्साह और धैर्य जैसे गुणों के बल पर हम कुछ भी हासिल कर सकते हैं। नियमित रूप से प्रेरणादायक साहित्य पढ़कर, और अच्छे विचारों को सुनकर जीवन में उत्साह को बनाए रख सकते है। इसी उत्साह के बल पर दूसरों को प्रभावित किया जा सकता है।

इसे भी पढ़ें:-

निंरतर प्रयास से बेहतर कैसे बनें।

आदतों में सुधार।

स्वीकार करना सीखना होगा।

असंभव कुछ भी नहीं।

प्रकृति का साधारण सा नियम है हम जो कुछ भी दूसरों को देते हैं वहीं हमें मिलता हैं।

कहने की अपेक्षा लोग किए गए कार्यों से ज्यादा प्रभावित होते हैं। सम्मान उन्हें ही दिया जाता है जो अपने से बड़ों का आदर सत्कार करते हैं। अपने संस्कारों का नियमित रूप से बढ़ाते रहते हैं। क्योंकी प्रकृति का साधारण सा नियम है हम जो कुछ भी दूसरों को देते हैं वहीं हमें मिलता हैं। अब निर्णय हमें करना है कि हमें अपने भविष्य में क्या चाहिए? हालांकि इस छोटे से नियम को समझने में कई बार हम बहुत देर कर देते हैं। अगर हम अपने जीवन में सुख शांति और समृद्धि हासिल करना चाहते हैं तो पहले हमें दूसरों को ये सब चीजें देनी सीखनी होंगी। दूसरों को परेशान करके हम कभी भी सुखी नहीं हो सकते। ये तो वैसी ही बात हो गई जैसे हम चाहत तो आम खाने की रखते है और बो कांटे रहें हैं।  छोटों और बड़ों को सम्मान देना सीखना होगा।

इसी से हमारे अंदर सकारात्मक ऊर्जा पैदा होती है और लोगों को आकर्षित करती है।

हमारे अंदर साहस और उत्सुकता से भरपूर एक महत्वपूर्ण इंसान छिपा हुआ है।

कहने की अपेक्षा लोग किए गए कार्यों से ज्यादा प्रभावित होते हैं। आपसी सहयोग और मिलकर काम करने की भावना से हमारे जीवन में एक अद्भुत शक्ति का संचार होता हैं। हम सब एक सामाजिक जीवन व्यतीत करते हैं और समाज में परस्पर सहयोग ही हमें जिंदा रखने में हमारी सहायता करता है। अतः दूसरों के लिए सहयोग की भावना रखना ही सहयोग प्राप्त करने का एकमात्र उपाय है। हमारे अंदर साहस और उत्सुकता से भरपूर एक महत्वपूर्ण इंसान छिपा हुआ है जिसका इस्तेमाल हम अपने सपनों को साकार करने के लिए कर सकते हैं। और इस साहसी व्यक्ति को हमारे परिवार और समाज से ही बल मिलता है। अतः हमें अपने समाज और परिवार के प्रति कृतज्ञता की भावना रखने की जरूरत है। इसके साथ ही विपरीत परिस्थितियों में धीरज धारण करने की कला विकसित करने में भी मदद मिलती है। 

जिस भी प्रेरणादायक विषय पर आप पढना चाहते है आप हमें बताएं। हम आपकी पसंद के विषय पर जरूर आर्टिकल लिखेंगे।

टिप्पणियां अवश्य दें।

धन्यवाद 🙏