धन की अपेक्षा मानसिक रूप से सबल होना ज्यादा महत्वपूर्ण है। (Being mentally strong is more important than money.)

Published by indertanwar397 on

मानसिक विकास हमें हर परिस्थिति में संतुलन बनाने में सहायक साबित हो सकता हैं।

धन की अपेक्षा मानसिक रूप से सबल होना ज्यादा महत्वपूर्ण है।  आमतौर पर धारना है कि बहुत सारी धन दौलत कमाने के बाद खुद को मानसिक और शारीरिक रूप से मजबूत बनाएंगे परंतु धन कमाने के बाद खुद के लिए समय निकालना थोड़ा मुश्किल होता है। इसीलिए बेहतर यही होगा कि हम शुरुआत से ही खुद में मानसिक और शारीरिक रूप से मजबूत बनाने की आदत विकसित कर लें। क्योंकी मानसिक विकास हमें हर परिस्थिति में संतुलन बनाने में सहायक साबित हो सकता हैं। अतः जीवन में मन और शरीर को जितना बेहतर बनाया जा सके उतना बेहतर बनाया जाना अनिवार्य हैं। हम मानसिक रूप से जितना ज्यादा पाज़िटिव होंगे सफलता हासिल करने की संभावना उतनी ही ज्यादा होगी। सामान्यतः रुपए कमाने की होड़ में बुनियादी चीजों की अनदेखी की जा रही है। परिणामस्वरूप ज्यादातर मामलों में न रुपए मिलते है और न ही मानसिक शांति।

इसे भी  पढ़ें :-

सहयोग से ही हम जीवन में सफलता प्राप्त करते हैं।

जिंदगी में खुशियां कहां पाऊं।

मूल्यवान कैसे बनें।

चैम्पियन की तरह व्यवहार करना होगा

हमारे भाव

ज्ञान से ही भाग्य का उदय होगा

समय हाथ से निकल जा रहा है।

उत्साह

जिम्मेदारी

सफलता प्राप्ति में संस्कारों का महत्त्व

असफलताओं को सफलता में बदलने वाले मुख्य तरीके

मन और बुद्धि से हम पूरी तरह से किसी भी परिस्थिति को सहन करने में सक्षम हो।

धन की अपेक्षा मानसिक रूप से सबल होना ज्यादा महत्वपूर्ण है। मानसिक सबलता हमें सही दिशा में लगातार प्रयास करते रहने की शक्ति प्रदान करती हैं। हालांकि, हम सब मन और बुद्धि से पूरी तरह से किसी भी परिस्थिति को सहन करने में सक्षम होते है, परंतु इन क्षमताओं का भान हमें उम्र के उस पड़ाव में होता है जहां चाह कर भी हम खुद को बेहतर नहीं बना सकते। जीवन निर्वाह के लिए रुपए कमाना अनिवार्य रूप से आवश्यक हैं परन्तु केवल रुपए कमाने के लिए हम अपने मौलिक गुणों को अनदेखा कर दें ऐसा करना बिल्कुल भी समझदारी नहीं होगी। एक साथ सभी गुणों को विकसित करना थोड़ा मुश्किल होगा इसके लिए हम कुछ नियमों को अपना सकते है। मुश्किल काम को छोटे-छोटे टुकड़े में बांट कर करने से बडी आसानी से किया जा सकता है।

नियमित रूप से खुद में थोड़ा थोड़ा सुधार बड़ा बदलाव ला सकता हैं।

इसे भी  पढ़ें

मानसिक बदलाव ही सफलता का मूलमंत्र है।

जीवन जीने के अनूठे तरीके।

खुद की मदद कैसे करें।

कोशिश करने से पीछे न हटें।

असंभव कुछ भी नहीं

ऊर्जा का स्तर

सामर्थ्य

आशावादी दृष्टिकोण

समय ही धन है

स्वस्थ जीवन जीने के तरीके।

स्वमान

परिवर्तनों से घबराने की बजाय उनका आदर करना होगा

सही दिशा में की गई मेहनत हमेशा फायदा देती है इस बात को समझने की आवश्यकता है।

धन की अपेक्षा मानसिक रूप से सबल होना ज्यादा महत्वपूर्ण है। मानसिक स्वास्थ्य के लिए हमेशा उत्साह, जोश और उमंग से भरपूर लोगों की संगत होना बहुत जरूरी है। इसके अलावा जो लोग हमारे उत्साह को कम करते है, हमें कभी भी आगे बढ़ने की सलाह या सुझाव न देते हो उनसे जितना हो सके उतना दूर रहने की आवश्यकता है। हमें खुद भी शुरुआत से ही आरामदायक चीजों की अपेक्षा मेहनत और संघर्ष करने के विकल्प का चयन करना होगा। सही दिशा में की गई मेहनत हमेशा फायदा देती है इस बात को समझने की आवश्यकता है। वास्तव में हमारे अंदर इतनी बुद्धि और विवेक है कि हम जो कुछ भी हासिल करना चाहे वो हासिल कर सकते हैं। लेकिन इसके लिए हमें निरंतर अभ्यास द्वारा खुद को सबल और सक्षम बनाना होगा। धन की अपेक्षा मानसिक रूप से सबल होना ज्यादा महत्वपूर्ण है।

इसे  भी पढ़ें :-

खुशी हमारे लिए क्यों महत्वपूर्ण है?

विचार ही सबसे बड़ी पूंजी है।

निवेश कहा करें।

हमारा व्यक्तित्व

चलो एक बार फिर से कोशिश करते हैं।

जीवन के मुख्य गुण क्या हैं?

आनंदमय जीवन

सच्ची खुशी

सरल जीवन

सफल आदतें

हमेशा खुश कैसे रहें

डायमंड्स

खुद में आत्मविश्वास जगाकर हम अपनी महत्वकांक्षाओं को पूरा कर सकते हैं।

धन की अपेक्षा मानसिक रूप से सबल होना ज्यादा महत्वपूर्ण है। यदि शारीरिक बल नहीं है तो संभावना है कि आलस्य हो इसी आलस्य हमारी मानसिक ताकत को भी प्रभावित करता हैं। इसके लिए हमें उन लोगों की जीवनियां पढनी होगी जिनसे हमारे व्यक्तित्व को बल मिले, हमारी ग्रोथ हमेशा होती रहें। महान लोगों के जीवन से प्रेरणा लेकर, खुद में आत्मविश्वास जगाकर हम अपनी महत्वकांक्षाओं को पूरा कर सकते हैं। आमतौर पर हम अपनी कामयाबी की संभावनाओं का अनुमान बहुत कम लगाते हैं। इसके अलावा जीवन में धन प्राप्ति की इच्छा में परेशान, हताश रहते हैं। ज्यादातर मौकों पर हम खुद को प्रेरित करने और बदलने की कोशिश भी नहीं करते हैं। आत्मविश्लेषण द्वारा हम इन बातों को समझ सकते हैं।

इसे भी  पढ़ें:

जीवन जीने के अनूठे तरीके।

धैर्य रूपी अद्भुत क्षमता को कैसे विकसित करें

स्वस्थ मन

पहला कदम

महत्वकांक्षा

कृतज्ञता

अपने आत्मविश्वास कौशल पर विश्वास 

सही दिशा

 विकल्प हमारे पास ही है।

प्रार्थना की शक्ति

समय ही धन है 

हम ऐसी आदतों को विकसित कर सकते हैं जो हमें महानता की श्रेणी में शामिल कर सकती हैं।

धन की अपेक्षा मानसिक रूप से सबल होना ज्यादा महत्वपूर्ण है।  मानसिक स्वास्थ्य हमारे आचरण और दूसरों के साथ किए गए बर्ताव पर निर्भर करता है। जितना हम दूसरों से की गई उम्मीदों से खुद को मुक्त रखेंगे उतना हम मानसिक रूप से मजबूत बनते जाएंगे।   हम ऐसी आदतों को विकसित कर सकते हैं जो हमें महानता की श्रेणी में शामिल कर सकती हैं। यह सब आदतों का ही परिणाम है आज हम जिस भी परिस्थिति में है, खुश हैं, दुःखी है या फिर अमीर है या गरीब है। यह सब हमारे बीते हुए कल का ही परिणाम है। प्रकृति ने हमें पूरी तरह से सक्षम बनाया है। अब मेहनत करना हमारे अपने हाथ में होता है। और इसमें हमें अपनी तरफ से कोई कम या ज्यादा का छोटा रास्ता नहीं ढूंढना है। हमें सिर्फ मेहनत करनी है वो भी पूरे मन से इसके अलावा कोई और विकल्प नहीं है।

इसे भी पढ़ें:-

निंरतर प्रयास से बेहतर कैसे बनें।

आदतों में सुधार।

स्वीकार करना सीखना होगा।

असंभव कुछ भी नहीं।

मन से स्वस्थ व्यक्ति सबके प्रति सम्मान और आदर की भावना रखता है।

धन की अपेक्षा मानसिक रूप से सबल होना ज्यादा महत्वपूर्ण है।   मानसिक रूप से सशक्त होना इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि इसके बल पर इंसान भले ही धन दौलत न कमा सकें लेकिन एक संतुलित जीवन जरूर व्यतीत कर सकता हैं। और इसके लिए हमें उचित समय का इंतजार करने की आवश्यकता नहीं है सफलता के लिए सबसे उपयुक्त समय यही है। इसके साथ ही मन से स्वस्थ व्यक्ति सबके प्रति सम्मान और आदर की भावना रखता है। क्योंकी एक सबल इंसान में यह सब स्वाभाविक रूप से उत्पन्न होने लगता है। वैसे भी जीवन की खुबसूरती दूसरों को सम्मान देने में ही निहित है। वास्तव में सामाजिक सहयोग और सद्भावना के बिना जीवन में कुछ भी हासिल करना लगभग मुश्किल है। अपने परिवार, दोस्तों और सहयोगियों को धन्यवाद देना अनिवार्य रूप से आवश्यक हैं। धन की अपेक्षा मानसिक रूप से सबल होना ज्यादा महत्वपूर्ण है।

मन की एकाग्रता और सतर्कता के लिए हमें खुद ही प्रयास करना होगा।

धन की अपेक्षा मानसिक रूप से सबल होना ज्यादा महत्वपूर्ण है। कहावत भी है कि “मन के हारे हार है मन के जीते जीत” इंसान के जीवन में कुछ और भले ही ना हो लेकिन मानसिक मजबूती होना बहुत जरूरी है।धन हमें जीवन में सुख सुविधाएं उपलब्ध करा सकता हैं परन्तु मन की एकाग्रता और सतर्कता के लिए हमें खुद ही प्रयास करना होगा। इसके लिए हमें धन का इंतजार करने की आवश्यकता नहीं है।  यदि वाकई हमारे अंदर कुछ शानदार करने की इच्छा है तो हमें वे सब कार्य करने की आवश्यकता है जिनको एक सामान्य व्यक्ति व्यर्थ समझता है। हमारा कोई भी दिन ऐसा न जाए कि जब हम कुछ बेहतर न सीखें। चूंकि वह दिन हमारे जीवन में वापिस नहीं आ सकता।  हमें ऐसे लोगों से दूर रहना होगा जो हमेशा दूसरों का समय बर्बाद करते हैं।

इसके अतिरिक्त आज के काम को आज़ ही करने की कोशिश जरूर करें।  

जिस भी प्रेरणादायक विषय पर आप पढना चाहते है आप हमें बताएं। हम आपकी पसंद के विषय पर जरूर आर्टिकल लिखेंगे।

टिप्पणियां अवश्य दें।

धन्यवाद 🙏