बहाने बनाकर हम खुद को ही आगे बढ़ने से रोकते हैं। (By making excuses, we stop ourselves from moving forward.)

Published by indertanwar397 on

एक नन्हा बीज विशालकाय वृक्ष में तब्दील होने की संभावनाओं से भरपूर होता है।

बहाने बनाकर हम खुद को ही आगे बढ़ने से रोकते हैं। टालमटोल करके  समय हम किसी और को नहीं बल्कि खुद को ही आगे बढ़ने से रोकते हैं। दूसरों की कमियों की अपेक्षा अपनी गलतियों पर ध्यान देना समझदारी कहलाता है। जिस प्रकार एक नन्हे से बीज, एक विशालकाय वृक्ष में तब्दील होने की संभावनाओं से भरपूर होता है ठीक उसी तरह हमारा एक एक विचार भी असाधारण कार्यों से भरपूर होता हैं। हमें हिम्मत नहीं हारना, जिस तरह नदी पहाड़ से निकल कर समुद्र का रास्ता नहीं पूछती। उसी तरह हमें भी प्रत्येक परिस्थिति में संतुलन बनाना सीखना होगा। वास्तव में हमने खुद को कमजोर मान कर रखा है अन्यथा हमारे अंदर ऐसे कार्य करने की शक्ति है, साहस है जिससे हम अपने सपनों को पूरा कर सकते हैं।

इसे भी देखें:-

https://youtube.com/channel/UC83ocu-n-AT2z-wG-iucEbQ

इसे भी  पढ़ें :-

सहयोग से ही हम जीवन में सफलता प्राप्त करते हैं।

जिंदगी में खुशियां कहां पाऊं।

मूल्यवान कैसे बनें।

चैम्पियन की तरह व्यवहार करना होगा

हमारे भाव

ज्ञान से ही भाग्य का उदय होगा

समय हाथ से निकल जा रहा है।

उत्साह

जिम्मेदारी

सफलता प्राप्ति में संस्कारों का महत्त्व

असफलताओं को सफलता में बदलने वाले मुख्य तरीके

राह चाहे कैसी भी हो लेकिन भरोसा खुद पर ही करना लाभकारी होगा।

बहाने बनाकर हम खुद को ही आगे बढ़ने से रोकते हैं। हमें दिखावे की अपेक्षा खुद को महत्व देना होगा क्योंकि ओरिजिनल वस्तु की कीमत डूप्लीकेट से ज्यादा होती हैं। इसीलिए कोशिश यही होनी चाहिए कि अपने मूल स्वरूप में बदलाव करने की अपेक्षा अपनी क्षमताओं को और ज्यादा विकसित किया जाए। जहां कोशिशों का कद बड़ा होता है वहां भाग्य को साथ देना ही पड़ता हैं। क्योंकी राह चाहे कैसी भी हो लेकिन भरोसा खुद पर ही करना लाभकारी होगा। वक़्त से सीखना ही सबसे महत्वपूर्ण कदम होगा। जीवन में बहुत सारी बाधाएं आएंगी लेकिन शिकायत करने से समस्याओं का समाधान नहीं होने वाला। इसके लिए हमें समाधान खोजने पर ध्यान देने की आवश्यकता होगी। हम सबकी अपनी-अपनी क्षमताएं होती है इसलिए केवल खुद को बेहतर बनाने पर ही काम करते रहने की आवश्यकता है।

इसे भी  पढ़ें

मानसिक बदलाव ही सफलता का मूलमंत्र है।

जीवन जीने के अनूठे तरीके।

खुद की मदद कैसे करें।

कोशिश करने से पीछे न हटें।

असंभव कुछ भी नहीं

ऊर्जा का स्तर

सामर्थ्य

आशावादी दृष्टिकोण

समय ही धन है

स्वस्थ जीवन जीने के तरीके।

स्वमान

परिवर्तनों से घबराने की बजाय उनका आदर करना होगा

शिखर पर पहुंचने का जज्बा रखने वाले निरंतर आगे बढ़ने के बारे में सोचते हैं।

बहाने बनाकर हम खुद को ही आगे बढ़ने से रोकते हैं। कुछ महत्वपूर्ण आदतें अपनाकर हम बहाने बनाने के अवरोध को दूर कर सकते हैं। क्योंकी आदतें हमारे जीवन को बदलने की क्षमता रखती हैं। शिखर पर पहुंचने का जज्बा रखने वाले बहाने बनाने के विषय में नहीं बल्कि निरंतर आगे बढ़ने के बारे में सोचते हैं। और परिस्थितियों को अपने अनुकूल बना लेते हैं। परमात्मा ने हम सबको भरपूर और सक्षम बनाया है। मूलभूत नियमों का नियमित रूप से पालन करके हम खुद को सुदृढ़ और बेहतर बना सकते हैं। इसके अलावा उपलब्ध साधनों से ही खुद का निर्माण करने की आवश्यकता है। प्रकृति की भांति हमें अपनी क्षमताओं को लगातार विकसित करते रहना होगा। शिकायतें छोड़ ईश्वर को धन्यवाद करने पर जोर दिया जाना अनिवार्य है। चाहे कितने भी कामयाब क्यों न हो जाएं परंतु सच्ची खुशी तो प्राकृतिक नियमों में ही है।

इसे  भी पढ़ें :-

खुशी हमारे लिए क्यों महत्वपूर्ण है?

विचार ही सबसे बड़ी पूंजी है।

निवेश कहा करें।

हमारा व्यक्तित्व

चलो एक बार फिर से कोशिश करते हैं।

जीवन के मुख्य गुण क्या हैं?

आनंदमय जीवन

सच्ची खुशी

सरल जीवन

सफल आदतें

हमेशा खुश कैसे रहें

डायमंड्स

बड़ा बदलाव लाने के लिए हमें कुछ महत्वपूर्ण सोचने की आवश्यकता है।

बहाने बनाकर हम खुद को ही आगे बढ़ने से रोकते हैं। अक्सर हम उसी काम को करना पसंद करते है जो आसान और कम मेहनत में होता हैं। और यही पर हम बड़ी गलती कर बैठते हैं। अपने आराम को छोड़कर महत्वपूर्ण और जरूरी चीजों पर ध्यान देना अनिवार्य रूप से आवश्यक हैं। सामान्यतः हम छोटी नौकरी या फिर छोटे से व्यवसाय के विषय में ही हमेशा चिंतन करते हैं। बड़ा बदलाव लाने के लिए हमें कुछ महत्वपूर्ण सोचने की आवश्यकता है। सीखने की आदत को जितना बेहतर बनाया जा सके उतना बनाना होगा।   स्वयं को हर हाल में उत्साह से भरपूर और आत्मविश्वास से लबरेज रखना होगा। प्रेरणादायक किताबें पढ़ने की आदत एक शानदार क़दम साबित होगा। इसके साथ ही अपनी क्षमताओं को बेहतर बनाने का प्रयास करना होगा। अपने महान पूर्वजों की तरह श्रेष्ठ जीवन जीना ही हमें अपना उद्देश्य बनाना होना।

इसे भी  पढ़ें:

जीवन जीने के अनूठे तरीके।

धैर्य रूपी अद्भुत क्षमता को कैसे विकसित करें

स्वस्थ मन

पहला कदम

महत्वकांक्षा

कृतज्ञता

अपने आत्मविश्वास कौशल पर विश्वास 

सही दिशा

 विकल्प हमारे पास ही है।

प्रार्थना की शक्ति

समय ही धन है 

छोटे बदलाव हमारी लाइफ में शानदार बदलाव ला सकते हैं।

बहाने बनाकर हम खुद को ही आगे बढ़ने से रोकते हैं। बहाने बनाकर हम अपने जीवन में उपलब्ध अवसरों का समय रहते लाभ नहीं उठा पाते हैं और इस अद्भुत, क्षमताओं से परिपूर्ण जीवन को एक गुमनाम जिंदगी जीने पर मजबूर कर देते हैं। वास्तविक रूप से हम सफल तभी होंगे जब सफलता के साथ साथ अपने व्यवहार में भी शानदार तरीके से बदलाव करने की आवश्यकता है। छोटे बदलाव हमारी लाइफ में शानदार बदलाव ला सकते हैं। हमें अब खुद को अपनी दयनीय स्थिति से बाहर निकलना होगा। आलस्य जैसी बुरी आदतों के कारण ही हम अपने खूबसूरत जीवन को निराशा में जीने को बाध्य कर देते हैं। हमें खुद को विकसित करने की आवश्यकता है क्योंकि इसमें ही हमारा सम्मान है। कमियों को स्वीकार करके उनमें सुधार किया जा सकता हैं। वास्तव में हर एक छोटा बदलाव कामयाबी हासिल करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

इसे भी पढ़ें:-

निंरतर प्रयास से बेहतर कैसे बनें।

आदतों में सुधार।

स्वीकार करना सीखना होगा।

असंभव कुछ भी नहीं।

इन अवसरों से ही हम अपने आप को बेहतर बना सकते हैं।

बहाने बनाकर हम खुद को ही आगे बढ़ने से रोकते हैं। हमारे नियमों में संशोधन करना बहुत जरूरी है क्योंकि सफलता प्राप्ति के मार्ग में प्राकृतिक नियमों का कठोरता से पालन करना जरूरी होता हैं। वास्तव में हमें वो मिलता है जिसके विषय में हम लगातार सोचते रहते है। आज हम एक नवीन युग में जी रहे हैं और यहां पर आगे बढ़ने के बहुत साधन उपलब्ध हैं। इन अवसरों से ही हम अपने आप को बेहतर बना सकते हैं। काफी बार हम दूसरों के विषय में ज्यादा चिंतन करते हैं। यह तरीका सर्वथा अनुपयुक्त है। खुद के साथ दूसरों का विकास ही हमेशा श्रेष्ठ मार्ग हैं। प्रकृति द्वारा प्रदत्त सभी वस्तुएं बिल्कुल मुफ्त में उपलब्ध हुई हैं।  हमें इनके महत्व को समझने की आवश्यकता है।

अपने जीवन की सुन्दरता के विषय में सोचना होगा, और दूसरों के लिए कुछ अच्छा करें इस विषय में सोचना होगा। अतः साधारण जीवन जीना ही श्रेष्ठ उपाय है।

अवचेतन मन का प्रभाव ही हमारे स्वभाव, हमारे व्यवहार और आचरण पर पड़ता है।

बहाने बनाकर हम खुद को ही आगे बढ़ने से रोकते हैं। जीवन में कुछ हासिल करने के लिए हमें शारीरिक मजबूती के साथ साथ मानसिक रूप से भी विकसित होने की आवश्यकता है। क्योंकी हमारे शारीरिक स्वास्थ्य का सीधा असर हमारी मानसिक स्थिति पर पड़ता है। इसीलिए कुछ समय अपने स्वास्थ्य के लिए निकालना बहुत आवश्यक हैं। वास्तव में हमारे अवचेतन मन का प्रभाव ही हमारे स्वभाव, हमारे व्यवहार और आचरण पर पड़ता है। कभी कभी जीवन में नकारात्मक विचारों का आना स्वाभाविक है। इन विचारों को सुंदर विचारों के साथ बदला जा सकता है। इस परिवर्तन को हम छोटे प्रयासों और अभ्यास द्वारा कर सकते हैं। बेहतर आदतों को विकसित करके सही दिशा में में जाया जा सकता है। अवचेतन मन उपजाऊ भूमि की तरह होता है। प्रार्थना करते समय जरूरी नहीं की मंदिर जाया जाए किन्तु मन में ईश्वर होना अत्यंत आवश्यक है। 

https://youtube.com/channel/UC83ocu-n-AT2z-wG-iucEbQ