दूसरों को सुधारने की अपेक्षा उनको प्रेरित करना ज्यादा बेहतर होगा। (It would be better to inspire others than to improve them.)

Published by indertanwar397 on

हमारा काम केवल और केवल अपनी को बेहतर से बेहतरीन बनाने का प्रयास करना।

दूसरों को सुधारने की अपेक्षा उनको प्रेरित करना ज्यादा बेहतर होगा। सामान्यतः हम ज्यादातर समय इसी इंतजार में व्यर्थ गंवा देते है कि जब परिस्थितियां सामान्य होंगी तो हम प्रयास करेंगे। दूसरों को सुधारने के चक्कर में हम अपने कीमती समय को गंवाते जा रहे हैं। यह हमारा विषय नहीं है कि कौन कब सुधरेंगा, परिस्थिति कब सामान्य कब होंगी। हमारा काम केवल और केवल अपनी को बेहतर से बेहतरीन बनाने का प्रयास करना। दूसरों के लिए प्रेरणास्रोत बनने की कोशिश करना ही परिवर्तन का सार है। एक शानदार किरदार को बखूबी निभाना ही हमारे प्रमुख ध्येय होना चाहिए क्योंकि ध्यान दिए बिना हम किसी भी कार्य को अच्छे से नहीं कर पाएंगे। खुशहाली और सरल तरीके से जीवन जीने का छोटा सा नियम है, स्वयं में परिवर्तन करने की दिशा में प्रयास करना। सही दिशा में लगातार प्रयास से ही सुधार संभव है।

इसे भी देखें 👉

https://youtube.com/channel/UC83ocu-n-AT2z-wG-iucEbQ

इसे भी  पढ़ें :-

सहयोग से ही हम जीवन में सफलता प्राप्त करते हैं।

जिंदगी में खुशियां कहां पाऊं।

मूल्यवान कैसे बनें।

चैम्पियन की तरह व्यवहार करना होगा

हमारे भाव

ज्ञान से ही भाग्य का उदय होगा

समय हाथ से निकल जा रहा है।

उत्साह

जिम्मेदारी

सफलता प्राप्ति में संस्कारों का महत्त्व

असफलताओं को सफलता में बदलने वाले मुख्य तरीके

सामान्यतः हम मूलभूत सिद्धांतों को छोड़ कर हम सफलता हासिल करना चाहते हैं।

दूसरों को सुधारने की अपेक्षा उनको प्रेरित करना ज्यादा बेहतर होगा। समर्पण भाव के सहारे हम किसी भी क्षेत्र में अग्रणी हो सकते हैं। ऐसा करके हम प्रेरणास्रोत बन सकते हैं और दूसरों के लिए शानदार मिशाल पेश कर सकते हैं। निराश होकर हम कुछ भी हासिल नहीं कर पाएंगे बल्कि अपने कीमती समय को व्यर्थ गंवा देते हैं। हर परिस्थिति में संतुलन बनाना सीखना होगा ताकि हम परिस्थितियों और भाग्य को दोष देने की आवश्यकता न पड़े। सामान्यतः हम मूलभूत सिद्धांतों को अहमियत देना छोड़ कर हम जल्दी सफलता हासिल करना चाहते हैं। वास्तव में इसी असंभव कार्य के लिए हम जी तोड़ मेहनत भी करते हैं। और फिर दूसरों को दोष देते हैं। समय पर यह सब करना होगा क्योंकि समय बड़ा मूल्यवान है इसको दोबारा वापिस नहीं लाया जा सकता। सामान्यतः बिना संघर्ष के कभी भी सफलता हासिल नहीं होती।

इसे भी  पढ़ें

मानसिक बदलाव ही सफलता का मूलमंत्र है।

जीवन जीने के अनूठे तरीके।

खुद की मदद कैसे करें।

कोशिश करने से पीछे न हटें।

असंभव कुछ भी नहीं

ऊर्जा का स्तर

सामर्थ्य

आशावादी दृष्टिकोण

समय ही धन है

स्वस्थ जीवन जीने के तरीके।

स्वमान

परिवर्तनों से घबराने की बजाय उनका आदर करना होगा

असफलता के बाद ही सफलता का सुख मिलता है।

दूसरों को सुधारने की अपेक्षा उनको प्रेरित करना ज्यादा बेहतर होगा। बहाने बनाना सबसे आसान कार्यों में से एक है। अक्सर, हम अपने कीमती समय को व्यर्थ के कार्यों में गंवाते रहते हैं और फिर दूसरों को सुधारने की बातें करते हैं। जब तक हम कुछ अद्भुत नहीं कर लेते, दूसरों के लिए प्रेरणास्रोत नहीं बनते तब तक किसी के विषय में कुछ कहने से बचने होगा। असफलता के बाद ही सफलता का सुख मिलता है। खुद को आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करना होगा। यदि हम ऐसी आदतों का खुद में  विकास कर ले जो मौलिक रूप से हमें मजबूत बना सकें तो फिर हमें पूरा विकसित होने से कोई नहीं रोक सकता। काम को न करके हम खुद को ही बेवकूफ बना रहे हैं और अपने क्षमताओं, शक्तियों  का दमन कर रहे हैं।

हार जाने के डर से खुद को दूर रखने की आवश्यकता है। स्मार्ट वर्क करना ज्यादा बेहतर परिणाम देता है।

इसे  भी पढ़ें :-

खुशी हमारे लिए क्यों महत्वपूर्ण है?

विचार ही सबसे बड़ी पूंजी है।

निवेश कहा करें।

हमारा व्यक्तित्व

चलो एक बार फिर से कोशिश करते हैं।

जीवन के मुख्य गुण क्या हैं?

आनंदमय जीवन

सच्ची खुशी

सरल जीवन

सफल आदतें

हमेशा खुश कैसे रहें

डायमंड्स

निडरता के साथ सामना करना ही एक श्रेष्ठ इंसान की पहचान होती हैं।

दूसरों को सुधारने की अपेक्षा उनको प्रेरित करना ज्यादा बेहतर होगा।  जीवन में कितनी भी मुश्किलें क्यों न आए, चाहे कैसी भी परिस्थिति में हम हो हमारे पास ऐसी अद्भुत शक्ति विद्यमान है जिसका प्रयोग करके हम असफल होने पर अपने आप को दोबारा स्थापित कर सकते हैं। और इंसान की यही काबिलियत दूसरों के लिए प्रेरणास्रोत बनती हैं। हर परिस्थिति में संतुलन और बड़ी समस्याओं से बिना डरें, निडरता के साथ सामना करना ही एक श्रेष्ठ इंसान की पहचान होती हैं। और इस असाधारण कला को हिम्मत के साथ लगातार प्रयास करते रहने की कला कहते हैं। घबराने की कोई आवश्यकता नहीं, निडरता के साथ आगे बढ़ते जाएं कामयाबी आपका इंतजार कर रही हैं। शर्त सिर्फ एक ही है हिम्मत नहीं हारना।  असफलताएं तो मिलती रहेगी, बार बार हार का सामना करना होगा लेकिन हिम्मत नहीं हारनी है।

इसे भी  पढ़ें:

जीवन जीने के अनूठे तरीके।

धैर्य रूपी अद्भुत क्षमता को कैसे विकसित करें

स्वस्थ मन

पहला कदम

महत्वकांक्षा

कृतज्ञता

अपने आत्मविश्वास कौशल पर विश्वास 

सही दिशा

 विकल्प हमारे पास ही है।

प्रार्थना की शक्ति

समय ही धन है 

कहने की अपेक्षा कार्य करके दूसरों को अच्छा संदेश दिया जा सकता हैं।

दूसरों को सुधारने की अपेक्षा उनको प्रेरित करना ज्यादा बेहतर होगा। मानसिक रूप से बदलाव करके हम काफी हद तक सफलता प्राप्ति की राह को आसान बना सकते है। अवचेतन मन हमारे विचारों और भावनाओं के अनुरूप ही कार्य करता है। इसलिए प्रयास यही करना होगा कि सदैव पाज़िटिव एटिट्यूड को अपनाया जाए। इसमें कोई संदेह नहीं कि सकारात्मक सोच सफलता प्राप्ति में हमारी सहायता करती हैं। कहने की अपेक्षा कार्य करके दूसरों को अच्छा संदेश दिया जा सकता हैं।   हम मानसिक रूप से किस स्तर पर है? क्या सफलता को हम केवल धन दौलत कमाने का साधन मानते हैं? इन प्रश्नों के उत्तर ही हमारे व्यक्तित्व का परिचय होगा। दूसरों के विषय में चिंतन करने से ज्यादा बेहतर खुद को मोटिवेट करें और अपने जीवन में निरंतर सुधार करने का प्रयास करते रहें इस संदर्भ में सोचने की आवश्यकता है।

इसे भी पढ़ें:-

निंरतर प्रयास से बेहतर कैसे बनें।

आदतों में सुधार।

स्वीकार करना सीखना होगा।

असंभव कुछ भी नहीं।

शिकायतें, निंदा जैसी गलत प्रवृत्तियों को अपने व्यवहार से दूर रखना ही बेहतर होगा।

दूसरों को सुधारने की अपेक्षा उनको प्रेरित करना ज्यादा बेहतर होगा। लक्ष्यों पर पूरा ध्यान देकर हम अपने सपनों को जल्दी पूरा कर सकते हैं।  एक विजेता की भांति व्यवहार करने की आवश्यकता है। छोटी बातों में उलझना साधारण व्यक्ति की पहचान होती है। शिकायतें, निंदा जैसी गलत प्रवृत्तियों को अपने व्यवहार से दूर रखना ही बेहतर होगा।  यह सब छोटी और व्यर्थ की बातें है जिसमें उलझकर हम लोग अपने कीमती समय को व्यर्थ गंवाते रहते हैं। इसके स्थान पर इन बातों को इग्नोर करके अपने लक्ष्य को फोकस करके हम अपने ड्रिमस को शीघ्र पूरा कर सकते हैं। समय का प्रयोग इस तरह करना होगा कि लोग खुद ही हमारे साथ चलने लगें।  हमें अपनी महत्वकांक्षाओं को पूरा करने में सही दिशा में मेहनत और समय लगाना होगा। आधुनिकीकरण की दौड़ में हमने खुद को केवल धन कमाने तक ही सीमित कर लिया है।

हमारे बस में केवल सही दिशा में कर्म करना ही है।

दूसरों को सुधारने की अपेक्षा उनको प्रेरित करना ज्यादा बेहतर होगा। प्रकृति से सीखकर भी हम अपने जीवन में शानदार परिवर्तन कर सकते हैं। प्रकृति सिर्फ देती हैं इसलिए वो इतनी ताकतवर है।  वस्तुत: सूर्य हमेशा धूप और गर्मी प्रदान करता हैं, पेड़ हमेशा ही फल और छाया देते है वो भी बिना किसी रिटर्न के। ठीक इसी तरह केवल देने की भावना को विकसित करके हम अपने और दूसरों के जीवन में अद्वितीय बदलाव कर सकते हैं। हमारे बस में केवल सही दिशा में कर्म करना ही है।  अच्छे भविष्य की इच्छा एक सकारात्मक सोच है लेकिन अच्छे भविष्य की लालसा में अपने सुंदर वर्तमान को व्यर्थ गंवा देना भी समझदारी नहीं है। हर परिस्थिति, हर क्षण को आनन्द पूर्ण तरीके से जीना होगा। निराशा, हताशा और चिंताओं से मुक्त होकर अपने वर्तमान कार्य को खुशी से पूरा करके अपने सुंदर भविष्य का निर्माण कर पाएंगे।